कांग्रेस सांसद ने अमित शाह को पत्र लिखा, असम-मिजोरम सीमा विवाद में हस्तक्षेप करने की अपील की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 27, 2021   17:51
कांग्रेस सांसद ने अमित शाह को पत्र लिखा, असम-मिजोरम सीमा विवाद में हस्तक्षेप करने की अपील की

कांग्रेस के सांसद गौरव गोगोई ने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिख कर असम और मिजोरम की सीमा पर शांति सुनिश्चित करने के लिए हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है।

गुवाहाटी। कांग्रेस के सांसद गौरव गोगोई ने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिख कर असम और मिजोरम की सीमा पर शांति सुनिश्चित करने के लिए हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है। गोगोई ने गृह मंत्री को यह पत्र असम-मिजोरम सीमा पर हिंसक संघर्ष में पांच पुलिसकर्मियों समेत कम से कम छह लोगों के मारे जाने और 50 अन्य के घायल होने के एक दिन बाद लिखा है। असम से लोकसभा सदस्य गोगोई ने यह भी कहा कि विवादित सीमा पर हिंसा लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने में ‘‘संवैधानिक तंत्र की असफलता’’ है।

इसे भी पढ़ें: विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में ब्राह्मणों को साधने में जुटी भाजपा

गोगोई ने कहा,‘‘यह सीमा पर सिर्फ शांति की ही असफलता नहीं है,बल्कि राज्य के संवैधानिक तंत्र की असफलता है, जो अपने लोगों की रक्षा करने में नाकाम रहा है।’’ केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को इस संबंध में असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा और मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथंगा से बातचीत की थी और विवादित सीमा पर शांति सुनिश्चित करने की उनसे अपील की थी।

इसे भी पढ़ें: जर्मनी के केमिकल साइट पर जोरदार विस्फोट,आसमान पर फैला काला धुआं; चेतावनी जारी

शाह ने दो दिन पहले पूर्वोत्तर के आठ राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करके सीमा विवाद को हल करने की जरूरत को रेखांकित किया था। गोगोई ने कहा,‘‘ यह (हिंसा) घटना कुछ दिन पहले गृह मंत्री के पूर्वोत्तर के दौरे और क्षेत्र में समृद्धि और सीमा मुद्दों के संदर्भ में स्थिरता का वादा करने के बावजूद हुई है। फिर भी इस प्रकार का अत्याचार जारी है।’’ उन्होंने कहा कि और लोगों के जीवन पर खतरा आ सकता है,‘‘ इसलिए मैं आपसे उचित कदम उठाने के लिए इस मामले पर तत्काल गौर करने की अपील करता हूं। सरकार असम की सीमाओं की रक्षा और शांति सुनिश्चित करे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।