कांग्रेस ने कहा कि प्रशासन को कश्मीर में 'भारत जोड़ो यात्रा' का रूट तय करने दीजिए

Bharat Jodo Yatra
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ के बृहस्पतिवार को जम्मू-कश्मीर में प्रवेश करने के बीच चौहान ने पीटीआई-से कहा, ‘‘हमने यात्रा के लिए दो रास्ते तय किए हैं - एक राष्ट्रीय राजमार्ग से होकर और दूसरा कश्मीर के अंदरूनी हिस्सों से। अब यह सुरक्षा अधिकारियों और प्रशासन पर निर्भर है कि वे हमें अनुमति देंगे या नहीं।’’

कांग्रेस पार्टी राहुल गांधी के नेतृत्व वाली ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ को कश्मीर घाटी के अंदरूनी इलाकों से ले जाना चाहती है, लेकिन पदयात्रा के मार्ग का फैसला सुरक्षा एजेंसी और जम्मू-कश्मीर प्रशासन पर छोड़ दिया गया है। कांग्रेस नेता चेतन चौहान ने यहां यह बात कही। ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ के बृहस्पतिवार को जम्मू-कश्मीर में प्रवेश करने के बीच चौहान ने पीटीआई-से कहा, ‘‘हमने यात्रा के लिए दो रास्ते तय किए हैं - एक राष्ट्रीय राजमार्ग से होकर और दूसरा कश्मीर के अंदरूनी हिस्सों से। अब यह सुरक्षा अधिकारियों और प्रशासन पर निर्भर है कि वे हमें अनुमति देंगे या नहीं।’’

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सुरक्षा कारणों से कश्मीर में यात्रा के मार्ग की जानकारी साझा नहीं की है। कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘हमने अभी तक कश्मीर में इस यात्रा के मार्ग के संबंध में जानकारी साझा नहीं की है क्योंकि हमें अब तक सुरक्षा अधिकारियों से मंजूरी नहीं मिली है।’’ चौहान ने कहा, ‘‘30 जनवरी को श्रीनगर के क्रिकेट स्टेडियम में एक विशाल रैली का आयोजन किया जाएगा, जिसके लिए सभी तैयारियां कर ली गई हैं। यह एक ऐतिहासिक आयोजन होगा। इसको लेकर लोगों में उत्साह है।’’

उन्होंने कहा कि नेशनल कांफ्रेंस और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) सहित जम्मू-कश्मीर के 12 से 15 राजनीतिक दल यात्रा में शामिल होंगे। तमिलनाडु के कन्याकुमारी से सात सितंबर को शुरू हुई ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ 30 जनवरी को श्रीनगर में संपन्न होगी, जहां राहुल जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी में राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़