कांग्रेस का कहना है कि हम भारत जोड़ो यात्रा पर हैं लेकिन कुछ लोग यूरोप जोड़ो यात्रा पर हैं

Bharat Jodo Yatra, in Kollam
प्रतिरूप फोटो
ANI
कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने संवाददाताओं से कहा, ‘हमारी भारत जोड़ो यात्रा है, न कि यूरोप जोड़ो यात्रा, जिसमें कांग्रेस पार्टी की आलोचना करने वाले कुछ दल अभी लगे हुए हैं।’ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता यहीं नहीं रूके और माकपा पर अपना हमला जारी रखते हुये इसे भाजपा की ‘ए’ टीम बताया।

भारत जोड़ो यात्रा के मार्ग और केरल में व्यतीत किये गये समय के कारण माकपा की आलोचना का सामना कर रही कांग्रेस ने वाम दल के नेताओं के प्रस्तावित विदेश यात्रा पर उन्हें आड़े हाथों लेते हुये कहा कि कुछ लोग यूरोप जोड़ो यात्रा पर हैं। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमारी भारत जोड़ो यात्रा है, न कि यूरोप जोड़ो यात्रा, जिसमें कांग्रेस पार्टी की आलोचना करने वाले कुछ दल अभी लगे हुए हैं।’’ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता यहीं नहीं रूके और माकपा पर अपना हमला जारी रखते हुये इसे भाजपा की ‘ए’ टीम बताया।

उन्होंने मुख्यमंत्री पिनराई विजयन को एक बार फिर ‘मुंडू मोदी’ करार दिया और कहा कि दोनों केरल में एक समान हैं। रमेश ने वाम दल पर हमला जारी रखते हुये कहा, ‘‘केरल में माकपा भाजपा की ‘ए’ टीम है। विचारधारा और प्रबंधन के मामले में केरल के मुख्यमंत्री और देश के प्रधानमंत्री में कोई अंतर नहीं है। वे दोनों समान हैं। मैंने केरल के मुख्यमंत्री को मुंडू मोदी करार दिया है। वह मुंडू मोदी हैं। दोनों के बीच कोई फर्क नहीं है। दोनों नहीं सुनते हैं, दोनों अपने मन की करते हैं। केरल में माकपा और भाजपा एक ही सिक्के के दो पहलू हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘सच्चाई यह है कि कांग्रेस को हराने के लिये 1989 में माकपा और भाजपा सहयोगी रह चुके हैं।’’ हालांकि, इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वाम दल अगर कांग्रेस का समर्थन करते हैं तो उनका स्वागत है। कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘लेकिन यह यात्रा विपक्षी एकता के लिये नहीं है। यह कांग्रेस को मजबूत करने के लिये है और बिना कांग्रेस के आपके पास विपक्षी एकता नहीं हो सकती है। यही एकमात्र पार्टी है जिसने भाजपा के साथ कभी गठबंधन नहीं किया।’’ पूर्व केंद्रीय मंत्री ने आरोप लगाया, ‘‘अब तक, सभी लोगों ने कांग्रेस को कमजोर करने का प्रयास किया है।

हम ऐसा नहीं होने देंगे। केरल में माकपा, भाजपा को आगे बढ़ाने और कांग्रेस को कमजोर करने का हर संभव प्रयास कर रही है।’’ रमेश ने भाजपा को आड़े हाथों लेते हुये केंद्र में सत्तारूढ़ दल पर लंबे समय तक देश को बांटने का आरोप लगाया। कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘वे (भाजपा) लंबे समय तक ‘भारत तोड़ो’ कर रहे थे। अब वे ‘कांग्रेस तोड़ो’ कर रहे हैं और गोवा में जो हो रहा है वह उस व्यवस्था का उदाहरण है जिसे भाजपा बनाने की कोशिश कर रही है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘एक दिन कंटेनर, दूसरे दिन टी-शर्ट, एक और दिन जूते और फिर गोवा।

यात्रा को मिल रही प्रतिक्रिया से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए वे रोजाना ऐसा करेंगे।’’ गुजरात और हिमाचल प्रदेश जैसे भाजपा शासित राज्यों से बचने और उत्तर प्रदेश में कम समय व्यतीत करने तथा केरल में 18 दिन बिताने के कांग्रेस पर लगे आरोपों के बारे में भी रमेश बोले। उन्होंने कहा कि यात्रा कई राज्यों से होकर गुरजेगी जहां कांग्रेस का सीधा मुकाबला भाजपा से है। उन्होंने कहा, ‘‘यात्रा कर्नाटक, तेलंगाना, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, राजस्थान और हरियाणा से होकर गुजरेगी जहां कांग्रेस और भाजपा का मुकाबला है।

जो कोई भी यह कहता है कि हम उन राज्यों में नहीं जा रहे हैं जहां कांग्रेस भाजपा से लड़ रही है, तो उनके पास यात्रा की विस्तृत जानकारी नहीं है।’’ यात्रा के कुछ राज्यों से बचने के बारे में उन्होंने कहा कि तमिलनाडु के कन्याकुमारी से गुजरात तक चलने में कम से कम 90 दिन लगेंगे और तब तक वहां के साथ-साथ हिमाचल प्रदेश में भी चुनाव समाप्त हो जायेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘इसलिये, अगर 56 इंच सीने वाले सुपरमैन भी, आप समझ रहे हैं कि मैं किसके बारे में कह रहा हूं,कन्याकुमारी से गुजरात तक जायेंगे तो उन्हें भी कम से कम 90 दिन लगेगा।’’

पूर्व कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद और गोवा के आठ विधायकों जैसे वरिष्ठ नेताओं को पार्टी में रोकने में सक्षम नहीं हो पाने के मुद्दे पर रमेश ने कहा कि दो तरह के लोग पार्टी छोड़ रहे हैं, जिन्हें इससे फायदा हुआ है अथवा जिन्हें केंद्रीय जांच एजेंसियों का डर है। आजाद के पार्टी छोड़ने पर रमेश ने कहा कि कांग्रेस से उन्हें सब कुछ मिला। उन्होंने कहा, ‘‘लोग छोड़ेंगे। लेकिन प्रत्येक गुलाम नबी आजाद के लिये 50 वी टी बलराम (केरल प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष) जैसे नौजवान हैं जो कांग्रेस की विचारधारा का प्रसार करेंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘इसलिये मैं इन बड़े नामों के बाहर जाने से चिंतित नहीं हूं। जितनी जल्दी वो छोड़ें बेहतर है।’’ पार्टी छोड़ने वाले लोगों की दूसरी श्रेणी के बारे में, उन्होंने कहा कि उन पर केंद्रीय जांच एजेंसियों के माध्यम से लगातार हमला करके भाजपा उन पर पार्टी छोड़ने का दबाव बनाती है। असम के मुख्यमंत्री का उदाहरण देते हुये रमेश ने कहा कि जब वह कांग्रेस में थे तो भारतीय जनता पार्टी लगातार उन्हें निशाना बना रही थी, और जब वह भगवा पार्टी में शामिल हो गये तो पार्टी अब चुप हो गयी है।

उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा एक वाशिंग मशीन है। जो भी इसमें जाता है, वह मेरे कुर्ते की सफेदी की तरह बेदाग होकर बाहर आता है।’’ न्होंने कहा कि यह कांग्रेस की गलती थी जब पार्टी ने गोवा के आठ विधायकों को अपने पाले में शामिल किया था। उन्होंने कहा, ‘‘वे भ्रष्ट थे। हमने उन्हें पार्टी में लेकर गलती की।’’ यात्रा के आगामी कार्यक्रम के बारे में उन्होंने कहा कि सात दिन तक चलने के बाद 23 सितंबर को आराम का दिन रहेगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़