गुजरात में कोरोना के मामले 95 हजार के पार, अब तक 3008 की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 31, 2020   10:05
गुजरात में कोरोना के मामले 95 हजार के पार, अब तक 3008 की मौत

विभाग के मुताबिक रविवार को 1,095 लोगों को संक्रमण मुक्त होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई। इस प्रकार अब तक राज्य में 76,757 मरीज ठीक हो चुके हैं। विभाग के अनुसार जिन 17 मरीजों की मौत हुई है उनमें पांच सूरत के थे और चार अहमदाबाद के।

अहमदाबाद। गुजरात में रविवार को कोविड-19 के 1272 नये मरीज सामने आने से राज्य में इस महामारी के मामले बढ़कर 95,155 हो गये। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी। विभाग ने बताया कि 17 और मरीजों की मौत हो जाने से अब तक 3008 लोग इस बीमारी से अपनी जान गंवा चुके हैं। विभाग के मुताबिक रविवार को 1,095 लोगों को संक्रमण मुक्त होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई। इस प्रकार अब तक राज्य में 76,757 मरीज ठीक हो चुके हैं। विभाग के अनुसार जिन 17 मरीजों की मौत हुई है उनमें पांच सूरत के थे और चार अहमदाबाद के।

भावनगर एवं वड़ोदरा में दो-दो, अमरेली, बनासकांठा, जामनगर और साबरकांठा में एक एक मरीज की मौत हो गयी। राज्य में उपचाररत मरीज 15,390 हैं तथा कोविड-19 मरीजों के ठीक होने की दर 80.67प्रतिशत है। विभाग के अनुसार राज्य में सबसे अधिक 257 नये मरीज सूरत में सामने आये। अहमदाबाद, वड़ोदरा, राजकोट और जामनगर में क्रमश: 169, 128, 119तथा 106 नये मामले सामने आये। विभाग के अनुसार राजधानी अहमदाबाद में कोविड-19 के 169 नये मरीज सामने आने के साथ ही जिले में संक्रमितों की संख्या 31,346 हो गयी। 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में बारिश के कारण आठ लोगों की मौत, गुजरात और ओडिशा में भी बाढ़ से स्थिति बेहाल

विभाग के अनुसार जिले में चार और मरीजों की जान चले जाने के बाद अब तक 1,728 लोग इस वायरस के चलते अपनी जान गंवा चुके हैं। विभाग के मुताबिक शनिवार को 164 मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी मिलने के साथ ही जिले में अब तक 26,234 मरीज ठीक हो चुके हैं। विभाग के मुताबिक गत 24 घंटे में 69,488 नमूनों की जांच की गई। इस प्रकार प्रति 10 लाख आबादी पर रोजाना 1,069.05नमूनों की दर से जांच की जा रही है। राज्य में अब तक 22,65,473 नमूनों की जांच की जा चुकी है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।