योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस के नए स्वरूप के बीच अतिरिक्त सतर्कता बरतने के दिए निर्देश

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 24, 2020   16:30
योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस के नए स्वरूप के बीच अतिरिक्त सतर्कता बरतने के दिए निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जांच का परिणाम आने तक ऐसे व्यक्तियों को नियमानुसार घरों में पृथक-वास में रखा जाए। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कोविड चिकित्सालयों में औषधियों, मेडिकल उपकरण सहित अन्य सुविधाओं की पर्याप्त उपलब्धता प्रत्येक स्थिति में बनी रहे।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ब्रिटेन में फैले कोरोना वायरस के नए स्वरूप (स्ट्रेन) को लेकर चिंताओं के बीच राज्य में अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री बृहस्पतिवार को यहां लोक भवन में एक उच्च स्तरीय बैठक में ‘अनलॉक व्यवस्था’ की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने वायरस के नए स्वरूप के बारे में प्रदेश में जरूरी विशेषज्ञता विकसित किए जाने पर बल दिया है। उन्होंने कोविड उपचार के संबंध में सभी जरूरी प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए हैं। योगी ने कहा कि विदेशों से आए लोगों की सूची बनाकर उनकी जांच (टेस्टिंग) सुनिश्चित कराई जाए। 

इसे भी पढ़ें: धान क्रय केन्द्रों की व्यवस्था को सुचारु बनाए रखने के योगी ने दिए निर्देश 

उन्होंने कहा कि जांच का परिणाम आने तक ऐसे व्यक्तियों को नियमानुसार घरों में पृथक-वास (होम आइसोलेशन) में रखा जाए। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कोविड चिकित्सालयों में औषधियों, मेडिकल उपकरण सहित अन्य सुविधाओं की पर्याप्त उपलब्धता प्रत्येक स्थिति में बनी रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार मेडिकल कॉलेजों की स्थापना को प्राथमिकता प्रदान कर रही है। उन्होंने तृतीय चरण में बनने वाले समस्त 14 मेडिकल कॉलेजों की स्थापना की कार्यवाही को गति प्रदान करने के निर्देश देते हुए कहा कि इस संबंध में गम्भीरता से प्रयास किए जाएं। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों में किसी भी स्तर पर लापरवाही सहन नहीं की जाएगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...