तिरंगे से साफ कर रहा था साइकिल, वीडियो वायरल होने के बाद हकरत में आई उत्तराखंड पुलिस, लिया ये एक्शन

 cycle was being cleaned
अभिनय आकाश । Apr 08, 2022 7:41PM
तिरंगे से साइकिल साफ करने के एक व्यक्ति का वीडियो वायरल हुआ। वायरल वीडियो में साफ नजर आता है कि तिरंगे से ये शख्स साइकिल साफ करता दिखाई दे रहा है। इसके बाद ये तिरंगा उसके हाथ से गिर भी जाता है।

उत्तराखंड के हल्द्वानी में एक वीडियो तेजी से सोशल मीडिया वायरल हो रहा है। जिसमें एक शख्स अपने दुकान के बाहर खड़ी साइकिल साफ करता दिख रहा है। लेकिन इस शख्स ने हाथों में जो कपड़ा पकड़ रखा था वो कोई सामान्य कपड़ा नहीं बल्कि देश का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा था। वायरल वीडियो में साफ नजर आता है कि तिरंगे से ये शख्स साइकिल साफ करता दिखाई दे रहा है। इसके बाद ये तिरंगा उसके हाथ से गिर भी जाता है। 

इसे भी पढ़ें: Matrubhoomi: भीकाजी कामा: विदेशी धरती पर पहली बार भारत का झंडा फहराने वाली बहादुर महिला की कहानी

वीडियो वायरल होने के बाद रामपुर रोड की विष्णुपुरी गली के निवासी कनिष्क ढींगरा ने अपने साथियों के साथ कोतवाली जाकर इस केस की सूचना और शिकायत की। पुलिस द्वारा तफ्तीश के बाद तिरंगे के अपमान किए जाने की बात सच निकली। इस घटना के वक्त पास ही खड़े एक व्यक्ति ने इसे अपने कैमरे में रिकॉर्ड कर लिया था। राष्ट्रीय ध्वज के अपमान के आरोप में पुलिस ने आरोपी पर राष्ट्रीय गौरव निवारण अधिनियम की धारा 2 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने अपील की है कि शहर का सांप्रदायिक माहौल ठीक रहे इसलिए इस शख्स का नाम उजागर न किया जाए।

प्रिवेंशन ऑफ इंसल्ट टू नेशन ऑनर एक्ट

झंडे को लेकर 23 दिसंबर, 1971 को कानून बना। जिसके अंतर्गत किसी भी सार्वजनिक स्थान पर भारतीय राष्ट्रीय ध्वज या संविधान या उसके किसी भी भाग का अपमान करने पर 3 साल की कैद जुर्माना या फिर दोनों सजाएं एक साथ दी जा सकती है। अपमान का अर्थ यहां जलाने या मूल स्वरूप को बिगाड़ने फाड़ने या गंदा करने सहित किसी भी अपमानित करने से आशय है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़