खतरे की घंटी! अभी भी जम्मू कश्मीर में 270 से ज्यादा आतंकवादी एक्टिव

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 14, 2021   18:26
  • Like
खतरे की घंटी! अभी भी जम्मू कश्मीर में 270 से ज्यादा आतंकवादी एक्टिव

जम्मू कश्मीर में अभी 270 से अधिक आतंकवादी सक्रिय हैं और यह संख्या 2019 और 2020 के आंकड़ों से कम है। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि केंद्र शासित प्रदेश में 2020 में आतंकवादी घटनाओं, घुसपैठ और असैन्य लोगों की हत्या की घटनाओं में कमी आते देखी गई।

जम्मू। जम्मू कश्मीर में अभी 270 से अधिक आतंकवादी सक्रिय हैं और यह संख्या 2019 और 2020 के आंकड़ों से कम है। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि केंद्र शासित प्रदेश में 2020 में आतंकवादी घटनाओं, घुसपैठ और असैन्य लोगों की हत्या की घटनाओं में कमी आते देखी गई। सुरक्षा बलों ने 100 से अधिक आतंकवाद रोधी ‘‘सफल’’ अभियानों में 225 आतंकवादियों को मार गिराया।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान में कोविड-19 के 3,097 नये मामले, एक महीने में सर्वाधिक संख्या

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस वक्त जम्मू कश्मीर में 270 से अधिक आतंकवादी सक्रिय हैं, जिनमें से 205 कश्मीर घाटी में हैं। उन्होंने बताया कि जम्मू कश्मीर में 2019 में 421 और 2020 में 300 से अधिक आतंकवादी सक्रिय थे। उन्होंने बताया कि 2020 में कुल 225 आतंकवादी मारे गये। वहीं, 2019 में 160 और 2018 में 257 आतंकवादी मारे गये थे। उन्होंने बताया कि किश्तवाड़-डोडा और पुंछ सहित जम्मू क्षेत्र में पीर पंजाल (पर्वत)श्रेणी के दक्षिण में अबतक शांतिपूर्ण रहे इलाकों में भी 2020 में आतंकवादी गतिविधियां देखने को मिली।

इसे भी पढ़ें: मनीष सिसोदिया ने कहा, बर्ड फ्लू में शिक्षकों को निरीक्षण ड्यूटी में नहीं लगाया जाएगा

जम्मू कश्मीर पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह ने हाल ही में कहा था , ‘‘ आतंकवादियों की मदद करने वाले 635 लोगों को 2020 में गिरफ्तार किया गया और उनमें से 56 पर जन सुरक्षा अधिनियम (पीएसए) के तहत मामला दर्ज किया गया।’’ सिंह ने कहा था कि सभी आतंकी संगठन अब नेतृत्वविहीन हो गये हैं और पाकिस्तान स्थित आतंकी सरगनाओं द्वारा किसी संगठन के नेतृत्वकर्ता के तौर पर भर्ती किये जा रहे आतंकवादी या तो पकड़े गये हैं, या मारे गये हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


मुख्यमंत्री योगी की गौतमबुद्ध नगर को सौगात, 700 करोड़ की 80 परियोजनाओं का किया लोकार्पण

  •  अनुराग गुप्ता
  •  जनवरी 25, 2021   14:50
  • Like
मुख्यमंत्री योगी की गौतमबुद्ध नगर को सौगात, 700 करोड़ की 80 परियोजनाओं का किया लोकार्पण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2018 में हमने एक जनपद और एक उत्पाद की योजना शुरू की थी जो आज देश में आत्मनिर्भर भारत की आधारशिला बन रही है। बता दें कि योगी आदित्यनाथ नोएडा आकर लोकार्पण और शिलान्यास करने वाले थे लेकिन मौसम सही नहीं होने की वजह से उन्हें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का सहारा लेना पड़ा।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नोएडा में करीब 700 करोड़ रुपए की 80 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि आज हमने एक साथ 700 करोड़ से अधिक की परियोजनाओं का लोकार्पण किया है। मुझे खुशी है कि हमारे गौतमबुद्धनगर के जनप्रतिनिधियों के सामूहिक प्रयासों से ये जनपद देश के अंदर तेज़ी से विकास के पथ पर अग्रसर हुआ है। 

इसे भी पढ़ें: सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिए संकेत, उत्तरप्रदेश में शराब पर प्रतिबंध लगाने के पक्ष में नहीं है सरकार 

इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2018 में हमने एक जनपद और एक उत्पाद की योजना शुरू की थी जो आज देश में आत्मनिर्भर भारत की आधारशिला बन रही है। बता दें कि योगी आदित्यनाथ नोएडा आकर लोकार्पण और शिलान्यास करने वाले थे लेकिन मौसम सही नहीं होने की वजह से उन्हें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का सहारा लेना पड़ा।

उन्होंने कहा कि मैंने खुद ही इस बात को महसूस किया है कि अकेले नोएडा अथॉरिटी ने वहां पर हजारों-करोड़ रुपए की परियोजनाओं का लोकार्पण कराया है। ऐसे ही ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने, यमुना एक्सप्रेस अथॉरिटी ने भी लोककल्याण इत्यादि से जुड़े हुए लोकार्पण के कार्य सम्पन्न किए हैं।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि जेवर में स्थापित होने वाले जेवर इंटरनेशनल ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट के निर्माण का काम तेज़ी से आगे बढ़ रहा है। ये एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा, इसमें बेहतरीन कनेक्टिविटी के लिए राज्य सरकार भारत सरकार के साथ मिलकर युद्ध स्तर पर काम कर रही है। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा- बंटवारे में नहीं एकजुटता में विश्वास करता हूं 

उल्लेखनीय है कि जिला सूचना अधिकारी राकेश चौहान ने बताया था कि मुख्यमंत्री की सुरक्षा के लिये पुख्ता प्रबंध किया गया है। यहां पर नोएडा, ग्रेटर नोएडा, यमुना विकास प्राधिकरण तथा नोएडा पुलिस, नोएडा मेट्रो रेल सहित विभिन्न संस्थानों ने अपनी-अपनी प्रदर्शनी लगाई है। उन्होंने बताया था कि समारोह का मुख्य आकर्षण एक जनपद एक उत्पाद, स्वयं सहायता समूह के उत्पाद, औद्योगिक प्रदर्शनी, उत्तर प्रदेश के इतिहास की प्रदर्शनी, नोएडा के इतिहास की प्रदर्शनी, नोएडा एयरपोर्ट के मॉडल का प्रदर्शन, उत्तर प्रदेश के प्रसिद्ध लोक व्यंजन, कृषि व जैविक उत्पादों की प्रदर्शनी के अलावा सांस्कृतिक आयोजन होंगे।

यहां सुने मुख्यमंत्री का पूरा संबोधन: 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


PM मोदी पर राहुल गांधी का हमला, कहा- कमजोर और विभाजित दिखाई देता है...

  •  अंकित सिंह
  •  जनवरी 25, 2021   14:45
  • Like
PM मोदी पर राहुल गांधी का हमला, कहा- कमजोर और विभाजित दिखाई देता है...

उन्होंने यह भी कहा कि यह कानून साफ साफ कहता है कि किसान अपनी रक्षा के लिए कोर्ट भी नहीं जा सकते हैं। आपको बता दें कि कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर किसान लगातार 60 दिनों से सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर राहुल गांधी ने एक बार फिर से जबरदस्त हमला किया है। न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक तमिलनाडु के करूर में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने पिछले 6-7 सालों में जो किया है उससे आज एक कमजोर और विभाजित भारत दिखाई देता है। राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि भाजपा और आरएसएस की विचारधारा देश में नफरत फैलाती रहती है। वर्तमान परिस्थिति में हमारी सबसे बड़ी ताकत अर्थव्यवस्था भी ध्वस्त हो गई है।

राहुल गांधी ने कृषि कानूनों को लेकर भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा कि जो प्रधानमंत्री तीन नए कृषि कानूनों को लेकर आए हैं, वह भारतीय कृषि को बर्बाद कर देंगे और कृषि को दो-तीन बड़े उद्योगपतियों के हाथ में सौंप देंगे। उन्होंने यह भी कहा कि यह कानून साफ साफ कहता है कि किसान अपनी रक्षा के लिए कोर्ट भी नहीं जा सकते हैं। आपको बता दें कि कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर किसान लगातार 60 दिनों से सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिए संकेत, उत्तरप्रदेश में शराब पर प्रतिबंध लगाने के पक्ष में नहीं है सरकार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 25, 2021   14:43
  • Like
सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिए संकेत, उत्तरप्रदेश में शराब पर प्रतिबंध लगाने के पक्ष में नहीं है सरकार

नई आबकारी नीति बनाने के दूसरे दिन उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को संकेत दिया कि वह राज्य में शराब पर प्रतिबंध लगाने के पक्ष में नहीं हैं। बहरहाल, उन्होंने यह स्पष्ट कर दिया कि उनकी सरकार उत्तर प्रदेश के हित में सभी कदम उठाएगी।

लखनऊ। नई आबकारी नीति बनाने के दूसरे दिन उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को संकेत दिया कि वह राज्य में शराब पर प्रतिबंध लगाने के पक्ष में नहीं हैं। बहरहाल, उन्होंने यह स्पष्ट कर दिया कि उनकी सरकार उत्तर प्रदेश के हित में सभी कदम उठाएगी। नई आबकारी नीति के अनुसार उत्‍तर प्रदेश में प्रति व्‍यक्ति या एक घर में महज छह लीटर शराब ही रखी जा सकेगी।

इसे भी पढ़ें: अमेरिकी सेना में समलैंगिकों पर लगे प्रतिबंधों को हटा सकते हैं राष्ट्रपति जो बाइडन

अगर इससे अधिक मात्रा में शराब रखनी है तो आबकारी विभाग से लाइसेंस लेना होगा। मुख्‍यमंत्री ने पत्रकारों से कहा कि इस कदम से शराब की तस्‍करी पर रोक लगेगी और यह राज्‍य के हित में हैं। यह पूछे जाने पर कि क्‍या राज्‍य सरकार की उत्‍तर प्रदेश को शराब मुक्‍त बनाने की योजना है, उन्‍होंने कहा कि हम जबरन कुछ नहीं कर सकते लेकिन राज्‍य के हित के लिए जो भी होगा हम वह कदम उठाएंगे। उल्‍लेखनीय है कि पड़ोसी राज्‍य बिहार और गुजरात में भी शराब की बिक्री पर प्रतिबंध है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept