• दिल्ली के मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों के साथ मास्टर प्लान 2041 के मसौदे पर चर्चा की

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को दिल्ली के मास्टर प्लान (एमपीडी) 2041 के मसौदे पर विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। यह मसौदा राष्ट्रीय राजधानी के दीर्घकालिक विकास के लिए रोडमैप तैयार करता है।

नयी दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को दिल्ली के मास्टर प्लान (एमपीडी) 2041 के मसौदे पर विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। यह मसौदा राष्ट्रीय राजधानी के दीर्घकालिक विकास के लिए रोडमैप तैयार करता है। दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) द्वारा तैयार किया गया मसौदा एमपीडी 2041 जून की शुरुआत में डीडीए की वेबसाइट पर उपलब्ध कराया गया और 23 जुलाई तक लोगों से सुझाव और आपत्तियां आमंत्रित की गयी हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘‘दिल्ली के मास्टर प्लान 2041 को लेकर सोमवार को सभी विभागों के साथ मुख्यमंत्री ने महत्वपूर्ण बैठक की।

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र बारिश : रायगढ़ में तीन लोगों के डूबने की आशंका, कोंकण क्षेत्र के लिए चेतावनी

बैठक में मास्टर प्लान के मद्देनजर दिल्ली के विकास को लेकर दिल्ली सरकार की तरफ से दिए जाने वाले सुझावों पर विस्तार से चर्चा हुई।’’ डीडीए ने दिल्ली के मास्टर प्लान के लिए जो मार्गदर्शक सिद्धांत तय किए हैं उनमें रात के समय आर्थिक गतिविधियां जारी रखने के साथ ‘‘24 घंटे का शहर’’ बनाने, व्यापक परिवहन अवसंरचना, सभी के लिए किफायती आवास और स्वच्छ वातावरण से लेकर अनधिकृत कॉलोनियों तथा प्रदूषण की जांच जैसे विषय शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: सीमित संख्या में पर्यटक घूम सकेंगे शिमला, मंदिरों के खुलने का समय भी बदला

दृष्टि दस्तावेज में पर्यावरण, अर्थव्यवस्था, गतिशीलता, विरासत, संस्कृति और सार्वजनिक स्थानों सहित अन्य नीतियों को शामिल किया गया है। डीडीए के अधिकारियों ने पूर्व में कहा था कि 2017 में मास्टर प्लान तैयार करने की प्रक्रिया शुरू की गयी थी और लॉकडाउन और अन्य प्रतिबंधों के बावजूद इसका काम जारी रहा।