• सीनियर सिटीजन के लिए दिल्ली सरकार कर सकती है बड़ा ऐलान, केजरीवाल ने दिए संकेत

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आने वाले दिनों में वरिष्ठ नागरिकों और छात्रों के लिए भी नि:शुल्क बस सेवा योजना शुरू की जा सकती है। उन्होंने कहा,‘‘सारे काम एक साथ पूरे नहीं किए जा सकते। लेकिन हम यकीनन यह करेंगे।

नयी दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली की सार्वजनिक बसों में महिलाओं की तरह बुजुर्गों को भी नि:शुल्क यात्रा करने की सुविधा दी जा सकती है। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय राजधानी में महिलाओं के लिए यह सुविधा भाईदूज के दिन मंगलवार से शुरू हो गई।मुख्यमंत्री ने अपने मोबाइल एप ‘एके ऐप’ में कहा कि यह योजना समाज में लैंगिग भेदभाव को दूर कर महिला सशक्तिकरण में मददगार होगी। केजरीवाल ने कहा,‘‘आवागमन का साधन मंहगा होने कारण स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई बीच में छोड़ने वाली लड़कियों और महिलाओं को अब ऐसा करने की जरूरत नहीं है। अब वे अपने स्कूल और कॉलेज आने-जाने के लिए बसों में सफर (नि:शुल्क) कर सकती हैं। इसी तरह से, जिन महिलाओं के दफ्तर दूर हैं उन्हें परिवहन पर आने वाले खर्च की चिंता करने की जरूरत नहीं है।’’

इसे भी पढ़ें: केजरीवाल का ऐलान, DTC बसों में मार्शलों की संख्या 13 हजार कर दी जाएगी

उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में वरिष्ठ नागरिकों और छात्रों के लिए भी नि:शुल्क बस सेवा योजना शुरू की जा सकती है। उन्होंने कहा,‘‘सारे काम एक साथ पूरे नहीं किए जा सकते। लेकिन हम यकीनन यह करेंगे। हमने पहले महिलाओं के लिये इसे शुरू किया है और नतीजों केआधार पर हम आने वाले समय में छात्रों और बुजुर्गों के लिए भी नि:शुल्क बस यात्रा सेवा शुरु करेंगे।’’ आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक ने नागरिकों को इस प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराने की योजनाओं पर विपक्षी दलों द्वारा सवाल किये जाने की निंदा की और कहा कि कुछ चीजें राजनीति से परे होती हैं और इन दलों को यह समझने की जरूरत है।

इसे भी पढ़ें: DTC और क्लस्टर बसों में आज से महिलाओं के लिए फ्री सफर, यात्रा के लिए मिलेगा गुलाबी टोकन

दरअसल, अगले साल दिल्ली में विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में विपक्षी दलों का आरोप है कि आप सरकार लोगों को लुभाने के लिए मुफ्त योजनाएं ला रही है। केजरीवाल ने कहा,‘‘राजीव गांधी (पूर्व प्रधानमंत्री) ने कहा था कि लोगों के कल्याण पर खर्च किये जाने वाले 100 रुपए में से 85 रुपए भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाते हैं और जनता तक केवल 15 रुपये ही पहुंचते हैं। हम उन 85 रुपयों को बचा रहे हैं और दिल्ली की जनता को सुविधाएं दे रहे हैं।’’