आकाश से नजर: दिल्ली पुलिस ने ड्रोन से की सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील इलाकों के छतों की जांच

drones
Creative Common
अभिनय आकाश । Sep 26, 2022 2:14PM
पुलिस ने इलाके को स्कैन करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया और छतों के फुटेज भी साझा किए। उन्होंने कहा कि इस अभियान का उद्देश्य यह भी जांचना है कि कहीं छत पर कोई आपत्तिजनक सामग्री (पत्थर, बोतल, प्रक्षेप्य) तो नहीं है।

दिल्ली पुलिस ने राजधानी दिल्ली में आतंकवाद विरोधी तंत्र को और मजबूत करने के लिए उत्तरी दिल्ली में कुछ संभावित सांप्रदायिक हॉटस्पॉट का हवाई सर्वेक्षण किया। पुलिस उपायुक्त (उत्तरी जिला) सागर सिंह कलसी ने कहा कि वजीराबाद थाना प्रभारी और बुराड़ी के एसएचओ ने आज अपने-अपने थाना क्षेत्रों के संभावित सांप्रदायिक हॉटस्पॉट की छत की जांच और सफाई अभियान चलाया। पुलिस ने इलाके को स्कैन करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया और छतों के फुटेज भी साझा किए। उन्होंने कहा कि इस अभियान का उद्देश्य यह भी जांचना है कि कहीं छत पर कोई आपत्तिजनक सामग्री (पत्थर, बोतल, प्रक्षेप्य) तो नहीं  है नहीं तो उसकी सफाई कराकर मकान मालिक पर कार्रवाई की जाती। 

इसे भी पढ़ें: द‍िल्‍ली में यमुना का जलस्‍तर खतरे के न‍िशान के करीब पहुंचा, न‍िचले इलाकों में बाढ़ जैसे हालात

कलसी ने आगे कहा कि अमन समिति के सदस्य उनके साथ थे और पूरे अभियान की विधिवत वीडियोग्राफी की गई। उत्तर पश्चिमी दिल्ली में 16 अप्रैल को में शहर के जहांगीरपुरी इलाके में हनुमान जयंती के जुलूस के दौरान सांप्रदायिक झड़पों के दौरान, यह पाया  गया था कि कुछ लोगों ने सड़क पर पथराव करने के लिए छतों का उपयोग करने की कोशिश की थी।  जिससे शायद पुलिस को इस तरह की गतिविधियों को रोकने के लिए आसमान से नजर रखने के लिए मजबूर होना पड़ा। पुलिस की चार्जशीट में कहा गया है कि जहांगीरपुरी में दंगों से पहले बोरियों में बोतलें रखी गईं थीं।

अन्य न्यूज़