ट्रैक्टर परेड की हिंसा के बाद छावनी में तब्दील हुई दिल्ली! सुरक्षा बल तैनात, कई मेट्रो स्टेशन सहित रास्ते बंद

ट्रैक्टर परेड की हिंसा के बाद छावनी में तब्दील हुई दिल्ली! सुरक्षा बल तैनात, कई मेट्रो स्टेशन सहित रास्ते बंद

केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार को किसानों के ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा, तोड़-फोड़ और अन्य अप्रिय घटनाओं के कारण बुधवार दिल्ली छावनी में तब्दील हो गयी है।

केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार को किसानों के ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा, तोड़-फोड़ और अन्य अप्रिय घटनाओं के कारण बुधवार दिल्ली छावनी में तब्दील हो गयी है। दिल्ली पुलिस मे 15 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है।  दिल्ली में जगह-जगह फोर्स लगाई गयी है। लोगों की कड़ी जांच कर रही हैं पुलिस। दिल्ली में पुलिस बल के साथ सीआरपीएफ की 15 कंपनियां तैनात की गई हैं।

गाजीपुर मंडी, NH-9 और NH-24 को ट्रैफिक मूवमेंट के लिए बंद कर दिया गया है। दिल्ली से गाजियाबाद आने वाले लोगों को शाहदरा, करकरी मोर और डीएनडी के साइड से  दिल्ली ट्रैफिक पुलिस जाने की सलाह दे रही है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली  के लाल किले में सुरक्षा कड़ी कर दी गई।प्रदर्शनकारियों का एक समूह किले की प्राचीर पर चढ़ गया और कल झंडे फहराए थे।

इसे भी पढ़ें: बंगाल भाजपा प्रमुख दिलीप घोष ने गलती से गणतंत्र दिवस पर उल्टा तिरंगा फहराया 

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने भी सुरक्षा करणों से जामा मस्जिद और लाल किला मेट्रो स्टेशन के प्रवेश द्वार बंद हैं। इस स्टेशन से बाहर निकलने की अनुमति है। अन्य सभी स्टेशन खुले हैं। सभी लाइनों पर सामान्य सेवाएं है। इसके अलावा दिल्ली आइटीओ से जुड़े कई सड़कों को बंद कर दिया गया है।  दिल्ली सिंघू सीमा पर सुरक्षा बढ़ाई गई जहां किसान किसान बिल का विरोध कर रहे हैं। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।