भक्ति पथ मार्ग पर चल कर श्री रामलला का दर्शन करेंगे श्रद्धालु

भक्ति पथ मार्ग पर चल कर श्री रामलला का दर्शन करेंगे श्रद्धालु

राम जन्मभूमि परिसर में दर्शन करने वाले श्रद्धालु के लिए दर्शन मार्ग को बदले जाने का कार्य शुरू हो गया है। अयोध्या में बिड़ला धर्मशाला के संपर्क मार्ग से सुग्रीव किला, राम गुलेला व अमावां मंदिर के रास्ते राम जन्मभूमि तक के लिए 80 फुट चौड़ा नया मार्ग बनाया जा रहा है।

अयोध्या। राम मंदिर निर्माण का कार्य तेजी से किया जा रहा है तो वही श्री रामलला का दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। ऐसे में दर्शन मार्ग की क्षमता को देखते हुए संपर्क मार्ग से परिसर तक के लिए नया भक्ति पथ मार्ग बना जा रहा है जिस पर चलकर लाखों की संख्या में श्रद्धालु भगवान श्री रामलला का दर्शन करेंगे। 

इसे भी पढ़ें: राममंदिर की सुरक्षा पर डीजीपी ने किया मंथन, ट्रस्ट से कहा- श्रद्धालुओं की संख्या को लेकर बढ़ाई जा सकती है दर्शन अवधि

राम जन्मभूमि परिसर में दर्शन करने वाले श्रद्धालु के लिए दर्शन मार्ग को बदले जाने का कार्य शुरू हो गया है। अयोध्या में बिड़ला धर्मशाला के संपर्क मार्ग से सुग्रीव किला, राम गुलेला व अमावां मंदिर के रास्ते राम जन्मभूमि तक के लिए 80 फुट चौड़ा नया मार्ग बनाया जा रहा है। जिससे आने वाले समय में लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं को दर्शन कराया जा सके। बनने वाले इन मार्गों पर सभी आधुनिक सुविधाओं से लैस किया जाएगा। जिस पर कार्य शुरू कर दिया गया है।

 

इसे भी पढ़ें: पूर्व कैबिनेट मंत्री अवधेश प्रसाद ने महात्मा गांधी से की अखिलेश की तुलना

 विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विशाल सिंह के मुताबिक राम जन्म भूमि जाने वाले दो मार्गों को चौड़ीकरण किया जा रहा है।  सुग्रीव किला से राम जन्मभूमि तक के लिए जिसमें टेंडरिंग का काम पूरा कर लिया गया है। वहीं बताया कि सुग्रीव किला मार्ग की संपत्तियों को शासन के द्वारा क्रय किया गया है। और अब सुग्रीव किला के मार्ग की चौड़ीकरण के जद में आ रहे भवन और संपत्तियों को हटाया जा रहा है। साथ ही हनुमानगढ़ी से राम जन्मभूमि मार्ग पर भी चौड़ीकरण किया जाना है। उसके लिए सभी भवन स्वामियों से चर्चा हो चुकी है। और पूर्व जिलाधिकारी के नेतृत्व में बैनामे की प्रक्रिया प्रारम्भ कर दी गई थी। अब बची हुई संपत्तियां हनुमानगढ़ी से राम जन्मभूमि मार्ग की क्रय करने का कार्य किया जाएगा। वहीं कहा कि सहादतगंज से नयाघाट मार्ग चौड़ीकरण का डीपीआर शासन को भेजा जा चुका है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।