'मेरा पति मुझे पीटता है, मुझे उससे बचाओ': फरियाद लेकर थाने पहुंचीं धर्मशाला विधायक की पत्नी

'मेरा पति मुझे पीटता है, मुझे उससे बचाओ': फरियाद लेकर थाने पहुंचीं धर्मशाला विधायक की पत्नी

हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला के विधायक विशाल नैहरिया अपनी पत्नी से मारपीट करने के आरोप में विवाद में फंस गये हैं। मामला पुलिस तक पहुंच गया है।

धर्मशाला। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष हिमाचल के विधायकों को धर्मशाला में संगठन की एकता व अनुशासन का पाठ रहे थे तो दूसरी ओर धर्मशाला से भाजपा विधायक विशाल नैहरिया की पत्नी अपने पति के जुल्म ज्यादतियों से इंसाफ पाने के लिये थाने में पहुंच गई दो दिनों से हिमाचल भाजपा का संगठन व सरकार धर्मशाला में है लेकिन इस घटनाक्रम ने पार्टी को बैकफुट पर ला दिया है । ताजा घटनाक्रम से भाजपा सकते में है। 

इसे भी पढ़ें: धर्मशाला में सरकार व संगठन की समीक्षा के लिये पहुंचे बीएल संतोष 

दरअसल, हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला के विधायक विशाल नैहरिया अपनी पत्नी से मारपीट करने के आरोप में विवाद में फंस गये हैं। मामला पुलिस तक पहुंच गया है। विशाल नैहरिया की शादी को अभी दो माह ही हुये हैं लेकिन लगता है दोनों के बीच सब ठीक नहीं चल रहा है शादी टूटने के कगार पर पहुंच गई है।

विधायक विशाल नैहरिया की पत्नी जो कि हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा की अधिकारी हैं व धर्मशाला में ही राष्ट्रीय अजिविका मिशन में निदेशक के तौर पर तैनात हैं ने बाकायदा पुलिस में शिकायत दी है कि उनके पति नैहरिया उनके साथ मापरपीट करते हैं अपने साथ हो रहे अमानवीय बर्ताव मारपीट के बाद एक वीडियो भी बनाया है। वीडियो में पत्नी मारपीट के जख्म दिखाकर विधायक पर आरोप लगा रही हैं।

बताया जा रहा है कि विधायक नैहरिया व महिला अधिकारी की शादी तो हुई लेकिन उनका पारिवारिक रिश्ता ठीक नही चल रहा विधायक की पत्नी का साफ तौर पर आरोप है कि उनका ओर विधायक के कालेज बीच मे कालेज के समय से प्रेम सम्बंध रहे हैं लेकिन उस दौरान भी नैहरिया मेरे साथ मारपीट करते थे और इसी वजह से मैंने उनके साथ रिश्ता तोड़ दिया था लेकिन जब वे विधायक बने तो 2019 में वे फिर मेरे पास आए और फिर मुझे अपनी बातों के विश्वास में लिया और फिर से हमारा रिश्ता आगे बढ़ा। 

इसे भी पढ़ें: नितिन गडकरी ने जयराम ठाकुर के साथ अटल टनल का किया दौरा 

महिला अधिकारी ने बताया कि चंडीगढ़ में हम एक होटल में रुके थे शादी से पहले उस दौरान में विधायक ने मेरे साथ बहुत मारपीट की उसके बाद मुझे इमोशनल ब्लैकमेल किया और मैं फिर मान गई। उसके बाद हमने कोर्ट मैरिज भी की। विधायक ने मुझे अपना प्यार साबित करने के लिए कोर्ट मैरिज की। शादी के बाद से ही मेरे साथ मारपीट जारी है और मुझे मैंटली हरास किया जा रहा है। मेरे ओर मेरे परिवार को जान का खतरा भी है। क्योंकि विधायक हमेशा मुझे अपने आप को कुछ करने की धमकियां देते रहते है और कई बार अपने आप को बोतल से या अन्य हथियारों से मार चुके है। महिला अधिकारी ने बताया कि इस बाबत मैने पुलिस में भी शिकायत दे दी है।

पुलिस को दी शिकायत में विधायक की पत्नी ओशिन शर्मा ने आरोप लगाया है कि शादी से पहले और शादी के बाद भी विधायक नैहरिया उनके साथ मारपीट कर रहे थे। उनके पति राजनीतिक रूप से प्रभावशाली हैं इसलिए उनको अपनी सुरक्षा का खतरा है। उन्होंने शिकायत पत्र में पुलिस से सुरक्षा की मांग की है।

कांगडा के पुलिस अधीक्षक विमुक्त रंजन ने बताया कि विधायक नैहरिया की पत्नी की ओर से उनके पति के खिलाफ शिकायत पुलिस को मिली है। एसपी ने कहा कि विधायक नैहरिया की पत्नी ने मारपीट की शिकायत की है। पुलिस से सुरक्षा की मांग भी की है। 

इसे भी पढ़ें: हिमाचल में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, जिलों के डीसी व कई अफसर के हुए तबादले 

विधायक नैहरिया और उनकी पत्नी की शादी दो माह पहले हुई थी। शादी से पहले पत्नी जिला कांगडा के नगरोटा सूरियां ब्लाक में बीडीओ के पद पर रह चुकी हैं। वर्तमान में वह धर्मशाला में बतौर एचएएस पद पर सेवाएं दे रही है। मिली जानकारी के मुताबिक दोनों कॉलेज के दिनों में एक-दूसरे को चाहते थे। खास बात यह थी कि दोनों पढ़ाई में अव्वल होने के साथ कॉलेज की राजनीति में भी काफी सक्रिय थे। बता दें कि विधायक नैहरिया धर्मशाला के रहने वाले हैं। जबकि ओशीन शर्मा शाहपुर रैत की रहने वाली हैं। दोनों राजनीति के अलावा सामाजिक कार्यों में भी काफी रुचि लेते हैं। ओशीन शर्मा प्रशासनिक अधिकारी की जिम्मेदारी निभा रही है। दोनों कोरोना बंदिशों के बीच दो माह पहले 26 अप्रैल को परिणय सूत्र में बंधे थे।

ओशीन शर्मा हिमाचल प्रशासनिक सेवा की अधिकारी हैं। उन्होंने हाल ही में एचएएस की परीक्षा पास की और 17वीं रैंक हासिल की। इससे पहले वह कांगड़ा में बीडीओ के पद पर तैनात थीं अब डीआरडीए धर्मषाला में हैं। ओशीन शर्मा के पिता भुवनेश शर्मा नायब तहसीलदार और माता सुंदरी शर्मा डीसी कांगड़ा के धर्मशाला स्थित कार्यालय में कार्यरत हैं। ओशीन का परिवार मूल रूप से चंबा जिले से है, लेकिन धर्मशाला में सैटल्ड है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...