दिनेश शर्मा की मांग, जेएनयू विवाद को तूल देने वाले छात्रों पर हो कठोर कार्रवाई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 22, 2019   19:16
दिनेश शर्मा की मांग, जेएनयू विवाद को तूल देने वाले छात्रों पर हो कठोर कार्रवाई

इस अवसर पर अपने संबोधन में शर्मा ने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद एकमात्र ऐसा संगठन है, जो छात्रों में राष्ट्रवाद की भावना का संचार करता है।

आगरा। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के 65 वें राष्ट्रीय अधिवेशन में शुक्रवार को आगरा पहुंचे उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि जेएनयू विवाद को तूल देने वाले छात्रों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होनी चाहिये। शर्मा ने कहा कि भारत में रहने वाले लोग यदि स्वामी विवेकानंद का भी सम्मान नहीं कर सकते तो उन्हें निर्दोष नहीं मानना चाहिये।

आगरा कॉलेज के मैदान पर आयोजित एबीवीवी के राष्ट्रीय अधिवेशन में पहुंचे शर्मा नेकॉलेज मैदान पर लगाई गयी जलियांवाला बाग की प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया। इसके बाद पुलवामा के शहीद कौशल रावत को समर्पित मॉडल्स का भी अवलोकन किया। अधिवेशन स्थल पर भ्रमण के दौरान उन्होंने अपने विद्यार्थी जीवन में एबीवीपी से जुड़ी यादें साझा कीं।

इसे भी पढ़ें: HRD मंत्रालय की ओर से नियुक्त पैनल के दौरे से पहले JNU छात्रों ने मानव श्रृंखला बनाई

इस अवसर पर अपने संबोधन में शर्मा ने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद एकमात्र ऐसा संगठन है, जो छात्रों में राष्ट्रवाद की भावना का संचार करता है। गैर राजनीतिक होने के बाद भी इस संगठन की समाज सेवा के क्षेत्र में प्रमुखता से हिस्सेदारी रहती है। बीएचयू में एक प्रोफेसर की नियुक्ति को लेकर चल रहे विवाद पर शर्मा ने कहा कि मुझे संस्कृत पढ़ाने वाले भी मुस्लिम शिक्षक थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...