लोकसभा अध्यक्ष से मिले IIMC के महानिदेशक, संस्थान द्वारा किये जा रहे रचनात्मक कार्यों की दी जानकारी

लोकसभा अध्यक्ष से मिले IIMC के महानिदेशक, संस्थान द्वारा किये जा रहे रचनात्मक कार्यों की दी जानकारी

इस अवसर पर प्रो. द्विवेदी ने कोविड काल के दौरान आईआईएमसी द्वारा मीडिया शिक्षा के क्षेत्र में किए गए नए प्रयोगों से श्री बिरला को अवगत कराया। प्रो. द्विवेदी ने संस्थान की भविष्य की योजनाओं के विषय में भी लोकसभा अध्यक्ष से चर्चा की।

नई दिल्ली। भारतीय जन संचार संस्थान के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने गुरुवार को लोकसभा अध्यक्ष श्री ओम बिरला से शिष्टाचार भेंट की। इस दौरान उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष को संस्थान की वर्तमान शैक्षिक गतिविधियों एवं रचनात्मक कार्यों की जानकारी दी और आईआईएमसी की शोध पत्रिका 'संचार माध्यम' के 'भारत में मीडिया शिक्षा के 100 वर्ष' विषय पर केंद्रित विशेषांक की प्रति भेंट की। 

इसे भी पढ़ें: IIMC में स्थापना दिवस व्याख्यान का आयोजन, शशि शेखर ने कहा- रोबो जर्नलिज्म आज के मीडिया की हकीकत

इस अवसर पर प्रो. द्विवेदी ने कोविड काल के दौरान आईआईएमसी द्वारा मीडिया शिक्षा के क्षेत्र में किए गए नए प्रयोगों से श्री बिरला को अवगत कराया। प्रो. द्विवेदी ने संस्थान की भविष्य की योजनाओं के विषय में भी लोकसभा अध्यक्ष से चर्चा की। इस मुलाकात के दौरान श्री बिरला ने भारतीय जन संचार संस्थान द्वारा अपने पुस्तकालय का नाम भारत में हिंदी पत्रकारिता की शुरुआत करने वाले पं. युगल किशोर शुक्ल के नाम पर रखने की सराहना भी की। श्री बिरला ने कहा कि आईआईएमसी का यह पुस्तकालय हिंदी पत्रकारिता के प्रवर्तक पं. शुक्ल के नाम पर देश का पहला स्मारक है। इसके लिए प्रो. संजय द्विवेदी प्रशंसा के पात्र हैं। 

इसे भी पढ़ें: ओटीटी कंटेट की गुणवत्ता बनाए रखना डिजिटल मीडिया आचार संहिता का लक्ष्य: विक्रम सहाय

लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना की चुनौतियों के बीच भारतीय जन संचार संस्थान को अभी और आगे जाना  है। आईआईएमसी को अब जनसंचार शिक्षा के क्षेत्र में वैश्विक स्तर पर स्वयं को स्थापित करने का प्रयास करना चाहिए।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।