बिघटनकारी तत्व प्रदेश को पलायन की आग में झोंकने की तैयारी के साथ चुनाव मैदान में : योगी

Yogi Adityanath
योगी ने अपने संबोधन में कहा, ‘‘यह जनता को तय करना है कि प्रदेश में कानून का राज हो, थानों का संचालन हिस्ट्रीशीटर न करें, अपराध के मामले में कत्तई बर्दाश्त नहीं की नीति हो तथा राष्ट्रवाद प्रभावी हो, तुष्टीकरण न हो और बिना भेदभाव के विकास हो।’’

बिजनौर| उत्तर प्रदेश के बिजनौर में बृहस्पतिवार को लोगों को संबोधित करते हुयेमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2022 के विधानसभा चुनावों में एक तरफ विघटनकारी तत्व अराजकता फैलाकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश को फिर से पलायन की आग मे झोकने की तैयारी के साथ चुनावी समर में आ रहे हैं जबकि दूसरी ओर उत्तर प्रदेश को भारत में नंबर एक बनाने के लिए भाजपा आपके समक्ष है।

योगी ने अपने संबोधन में कहा, ‘‘यह जनता को तय करना है कि प्रदेश में कानून का राज हो, थानों का संचालन हिस्ट्रीशीटर न करें, अपराध के मामले में कत्तई बर्दाश्त नहीं की नीति हो तथा राष्ट्रवाद प्रभावी हो, तुष्टीकरण न हो और बिना भेदभाव के विकास हो।’’

उन्होंने दावा किया कि प्रदेश में इसका एकमात्र विकल्प भारतीय जनता पार्टी ही है। उन्होंने कहा कि सपा, बसपा औक कांग्रेस के प्रत्याशियों की लिस्ट बता रही है कि दंगाइयो को चुनाव का टिकट देने की होड़ लगी है।

योगी ने ‘प्रभावी मतदाता संवाद कार्यक्रम’ में कहा कि विपक्ष की संवेदना गुंडे ,माफियाओं की पीड़ा. देखकर जागती है। उन्होंने कहा कि सरकार धर्म विशेष के त्यौहार से पहले सुनियोजित दंगा कराकर कर्फ्यू लगा देती थी। मुख्यमंत्री ने कैराना के पलायन का मुद्दा उठाते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी ने वहां पलायन कराने के आरोपी को ही फिर से उम्मीदवार बना दिया है।

पिछली सरकारों से कानून व्यवस्था की तुलना करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहले हर तीन दिन में एक दंगा होता था और बहन बेटी बाजार स्कूल नही जा पाती थीं लेकिन अब पांच बरस में उत्तर प्रदेश बदल गया है और कोई दंगा नही हुआ।

योगी ने कहापिछली सरकार ने गरीब,किसान, मजदूर का हक छीन कर अवैध धन कमाया और शिक्षा चिकित्सा सहित हर जगह से लूट मचायी जो अब दीवारें तोड़ कर निकल रहा है जबकि भाजपा ने बिना चेहरा, जाति और मजहब देखे सभी को शासन की योजनाओं का लाभ दिया है। इसके अलावा योगी ने अपनी सरकार की उपलब्धि गिनायी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़