AIIMS के चिकित्सकों ने किया मनोहर पर्रिकर का परीक्षण, स्वास्थ्य स्थिर: एसीएमओ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 25, 2019   14:58
AIIMS के चिकित्सकों ने किया मनोहर पर्रिकर का परीक्षण, स्वास्थ्य स्थिर: एसीएमओ

माननीय मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के जांच की अगुवाई करने वाले एम्स के चिकित्सक डा प्रमोद गर्ग ने मुख्यमंत्री की गहन जांच की। मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य में प्रगति पर चिकित्सकों ने खुशी जतायी। पर्रिकर का स्वास्थ्य लगातार स्थिर है।’’

पणजी। गोवा के मुख्यमंत्री कर्यालय ने कहा है कि बीमार चल रहे मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की स्थिति स्थिर है। इससे पहले राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित एम्स के एक वरिष्ठ चिकित्सक ने उनकी जांच की थी। पर्रिकर (63) को गोवा मेडिकल कालेज अस्पताल में शनिवार को भर्ती कराया गया था। दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के दो चिकित्सक रविवार दोपहर यहां पहुंचे और भाजपा नेता के स्वास्थ्य की जांच की। मुख्यमंत्री कार्यालय ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘माननीय मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के जांच की अगुवाई करने वाले एम्स के चिकित्सक डा प्रमोद गर्ग ने मुख्यमंत्री की गहन जांच की। मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य में प्रगति पर चिकित्सकों ने खुशी जतायी। पर्रिकर का स्वास्थ्य लगातार स्थिर है।’’

इसे भी पढ़ें: नेशनल हेराल्ड बेदखली मामले में उच्च न्यायालय ने फैसला सुरक्षित रखा

गोवा विधानसभा अध्यक्ष प्रमोद सावंत ने कहा कि मुख्यमंत्री की स्थिति ‘‘स्थिर’’ है और उनका ‘‘आंतरिक रक्तस्राव रूक गया है।’’ पर्रिकर पिछले एक साल से एक अग्नयाशय की बीमारी से पीड़ित हैं और उनका इलाज अमेरिका के साथ ही दिल्ली के एम्स और मुंबई के एक निजी अस्पताल में चल रहा है। सावंत के अलावा स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे, पूर्व मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत परसेकर सहित कई नेता सोमवार की सुबह पर्रिकर के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी लेने गोवा मेडिकल कालेज अस्पताल पहुंचे। सावंत ने बताया कि मुख्यमंत्री का स्वास्थ्यस्थिर है और उनकी जांच कर रहे चिकित्सकों के अनुसार उनका आंतरिक रक्तस्राव रूक गया है। उन्होने बताया, ‘‘उनके सभी स्वास्थ्य मापदंड अब स्थिर है।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।