डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने लिखा प्रशांत जी जरा धैर्य रखें, भाजपा पश्चिम बंगाल में 200 सीटें जीतेगी

डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने लिखा प्रशांत जी जरा धैर्य रखें, भाजपा पश्चिम बंगाल में 200 सीटें जीतेगी

डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रशांत किशोर जैसे नॉन पॉलिटिकल लोग राजनीति के बारे में ज्यादा न बोलें तो बेहतर होगा। ये वही पीके हैं, जिन्होंने यूपी में खाट पंचायत करवाकर कांग्रेस की खाट खड़ी और अखिलेश यादव की साइकिल पंक्चर करवा दी थी। अब ये बंगाल में तृणमूल को भी तिनके की तरह उड़वा देंगे।

भोपाल। तृणमूल कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने दावा किया है कि पश्चिम बंगाल में भाजपा को डबल डिजिट तक पहुंचने के लिए संघर्ष करना पड़ेगा। उनके इस दावे पर मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि प्रशांत जी थोड़ा धैर्य रखें, भाजपा 200 से अधिक सीटें जीतकर बंगाल में सुशासन और विकास लाएगी। डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रशांत किशोर जैसे नॉन पॉलिटिकल लोग राजनीति के बारे में ज्यादा न बोलें तो बेहतर होगा। ये वही पीके हैं, जिन्होंने यूपी में खाट पंचायत करवाकर कांग्रेस की खाट खड़ी और अखिलेश यादव की साइकिल पंक्चर करवा दी थी। अब ये बंगाल में तृणमूल को भी तिनके की तरह उड़वा देंगे।

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश भाजपा जिला अध्यक्षों का प्रशिक्षण वर्ग सीहोर में होगा

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने ट्वीट किया है- ‘बड़े बड़ाई ना करें, बड़े न बोलें बोल। रहिमन हीरा कब कहे, लाख टका मेरो मोल।’ उन्होंने आगे कहा है- ‘प्रशांतजी, थोड़ा धैर्य रखिए। भाजपा की रैलियों में उमड़ रहे जन सैलाब से आपका व्यथित होना स्वाभाविक है। भाजपा बंगाल में 200 से ज्यादा सीटें जीतकर वहां सुशासन और विकास लाएगी।’

 

इसे भी पढ़ें: मोदी जी के नेतृत्व में वैश्विक महाशक्ति बनेगा भारतः शर्मा

 उल्लेखनीय है कि प्रशांत किशोर ने सोमवार को ट्वीट किया था कि- ‘भाजपा समर्थक कुछ मीडिया वाले इस तरह का माहौल बना रहे हैं, जैसे पश्चिम बंगाल में भाजपा की सरकार बनने वाली है। लेकिन ऐसा होने वाला नहीं है। भाजपा पश्चिम बंगाल में डबल डिजिट क्रॉस करने के लिए संघर्ष करेगी। जो लोग भी इस ट्वीट को पढ़ें, वे इसे सेव कर लें। अगर भाजपा दहाई अंकों से बेहतर करती है तो मैं ट्विटर छोड़ दूंगा।’ 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।