भाजपा समर्थकों को धमकाने वाले TMC विधायक पर गिरी गाज, EC ने सभाओं, रैलियों, रोड शो पर लगाई 7 दिनों की रोक

भाजपा समर्थकों को धमकाने वाले TMC विधायक पर गिरी गाज, EC ने सभाओं, रैलियों, रोड शो पर लगाई 7 दिनों की रोक
प्रतिरूप फोटो

चुनाव आयोग ने टीएमसी विधायक नरेंद्र चक्रवर्ती को एमसीसी उल्लंघन पर 7 दिनों के लिए पश्चिम बंगाल में चल रहे उपचुनाव के संबंध में कोई भी सार्वजनिक सभा, रैलियां, रोड शो और साक्षात्कार करने से रोक दिया है। दरअसल, टीएमसी विधायक का वीडियो सामने आने के बाद भाजपा ने चुनाव आयोग से कार्रवाई करने का अनुरोध किया था।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की आसनसोल लोकसभा सीट और चार विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो चुकी हैं। इसी बीच तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) विधायक का धमकाने वाला वीडियो सामने आया। जिस पर चुनाव आयोग ने संज्ञान लेते हुए विधायक की सभाओं, रैलियों, रोड शो और इंटरव्यू पर 7 दिनों की रोक लगा दी है। 

इसे भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल के घटनाक्रम पर भाजपा ने कहा- मूक दर्शक नहीं रह सकता केंद्र 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, चुनाव आयोग ने टीएमसी विधायक नरेंद्र चक्रवर्ती को एमसीसी उल्लंघन पर 7 दिनों के लिए पश्चिम बंगाल में चल रहे उपचुनाव के संबंध में कोई भी सार्वजनिक सभा, रैलियां, रोड शो और साक्षात्कार करने से रोक दिया है। दरअसल, टीएमसी विधायक का वीडियो सामने आने के बाद भाजपा ने इस संबंध में चुनाव आयोग से कार्रवाई करने का अनुरोध किया था। 

इसे भी पढ़ें: भाजपा ने ममता की पार्टी को बताया तालिबानी मानसिकता कांग्रेस, कहा- नरेंद्र चक्रवर्ती की भाषा टीएमसी का मूल विचार है

भाजपा के आईटी सेल प्रमुख और पार्टी सह बंगाल प्रभारी अमित मालवीय ने टीएमसी नेता का एक वीडियो ट्वीट कर चुनाव आयोग से इस मामले में संज्ञान लेने का अनुरोध किया था। अमित मालवीय ने वीडियो साझा करते हुए आरोप लगाया था कि टीएमसी विधायक नरेंद्र चक्रवर्ती भाजपा मतदाताओं और समर्थकों को खुली धमकी देते हुए कह रहे हैं कि वे घरों से बाहन न निकलें और वोट न दें, अन्यथा परिणाम भुगतने होंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।