ईडी ने रॉबर्ट वाड्रा, भंडारी के खिलाफ मामलों में प्रवासी कारोबारी थंपी को गिरफ्तार किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 20, 2020   18:50
ईडी ने रॉबर्ट वाड्रा, भंडारी के खिलाफ मामलों में प्रवासी कारोबारी थंपी को गिरफ्तार किया

प्रवर्तन निदेशालय ने प्रवासी भारतीय कारोबारी सी सी थंपी को मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े एक मामले में गिरफ्तार किया है। आरोप है कि वाड्रा ने लंदन की इस संपत्ति को खरीदा था और इस फ्लैट की मरम्मत के संबंध में उनके और भंडारी के बीच हुए कुछ कथित ईमेल इस मामले के सबूतों में शामिल हैं।

नयी दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ड वाड्रा के खिलाफ धनशोधन और हथियार विक्रेता संजय भंडारी के विदेशों में कथित अवैध संपत्ति होने के मामलों से जुड़ी अपनी जांच के संबंध में प्रवासी भारतीय कारोबारी सी सी थंपी को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी।कहा जाता है कि दुबई की कंपनी स्काई लाइट पर थंपी का ‘नियंत्रण’ है। भंडारी की कंपनी सैनटेक एफजेडई ने 2009 में एक निजी कंपनी से लंदन में संपत्ति खरीदी थी। यह संपत्ति स्काई लाइट की थी। आरोप है कि वाड्रा ने लंदन की इस संपत्ति को खरीदा था और इस फ्लैट की मरम्मत के संबंध में उनके और भंडारी के बीच हुए कुछ कथित ईमेल इस मामले के सबूतों में शामिल हैं। एजेंसी ने दावा किया है कि थंपी की वाड्रा से मुलाकात कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के एक सहयोगी के जरिए हुई थी वहीं वाड्रा ने प्रवर्तन निदेशालय को कथित तौर पर बताया कि कुछ साल पहले एमिरेट फ्लाइट में सिर्फ एक बार उनकी मुलकात हुई थी।

इसे भी पढ़ें: मंडी हाउस पर CAA और NRC के विरोध में छात्रों का प्रदर्शन

थंपी ने ईडी की पूछताछ में बताया था कि वाड्रा लंदन की ब्रायंस्टन स्क्वायर की संपत्ति में रुके थे। वहीं वाड्रा ने थंपी के इस दावे से इनकार किया।उन्होंने बताया कि एजेंसी ने थंपी कोइस मामले में पूछताछ के लिए बुलाया था और उसे धन शोधन निरोधक कानून (पीएमएलए)के तहत शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया। केन्द्रीय एजेंसी एक कथित हवाला मामले और 2017 में देश में एक संपत्ति खरीद मामले में थंपी के खिलाफ जांच कर रही है। यह मामला विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) के कथित तौर पर उल्लंघन का है।  कारोबारी के खिलाफ फेमा के दो कारण बताओ नोटिस के तहत जिन कंपनियों के खिलाफ जांच चल रही है उनमें हॉलीडे सिटी सेंटर प्राइवेट लिमिटेड, हॉलीडे प्रॉपर्टीज प्राइवेट लिमिटेड और हॉलीडे बेकल रिजॉर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड शामिल हैं।एजेंसी के सूत्रों ने बताया कि कुछ नेताओं और नौकरशाहों के साथ कथित लेनदेन के संबंध में भी थंपी जांच के दायरे में है।वाड्रा ने अपने ऊपर लगे आरोपों से लगातार इनकार किया है और कहा है कि जांच में सहयोग करेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।