केंद्र और राज्‍य सरकार के साझा प्रयासों से विकास की दिशा में मिलेगा नया मुकाम: योगी

Yogi
योगी ने अपने सरकारी आवास से प्रधानमंत्री की अध्‍यक्षता में आयोजित नीति आयोग की शासी परिषद की छठी बैठक को ऑनलाइन माध्‍यम से संबोधित करते हुए कहा, उत्तर प्रदेश 10 लाख लोगों को कोविड-19 टीका लगाने वाला देश का पहला राज्य बन गया है।
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को उम्मीद जताई कि केंद्र और राज्य सरकार के साझा प्रयासों से विकास की दिशा में देश और राज्य को एक नया मुकाम मिलेगा। योगी ने अपने सरकारी आवास से प्रधानमंत्री की अध्‍यक्षता में आयोजित नीति आयोग की शासी परिषद की छठी बैठक को ऑनलाइन माध्‍यम से संबोधित करते हुए कहा, उत्तर प्रदेश 10 लाख लोगों को कोविड-19 टीका लगाने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। 

इसे भी पढ़ें: मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले का नाम अब नर्मदापुरम, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया एलान

यहां जारी एक सरकारी बयान के अनुसार मुख्‍यमंत्री ने कहा, प्रदेश ‘बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान’ के अंतर्गत 500 से अधिक सुधार सफलतापूर्वक लागू करते हुए ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ रैंकिंग में देश में 12वें स्थान से दूसरे स्थान पर आ गया है। उन्‍होंने कहा, निवेश प्रोत्साहन में गतिशीलता लाने के लिये 27 विभागों के साथ निवेश मित्र पोर्टल की स्थापना की गयी है, जिसमें अब तक 227 सेवाएं सम्मिलित की जा चुकी हैं। प्रदेश की सकारात्मक नीतियों के परिणामस्वरूप कोरोना काल में अब तक विभिन्न परियोजनाओं हेतु लगभग 60 हजार करोड़ रुपये के निवेश के प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं।’’ 

इसे भी पढ़ें: अखिलेश यादव ने उठाया सवाल, कहा- यूपी के नहीं हैं योगी आदित्यनाथ बाहर से आये हैं

योगी ने चार वर्षों में हुए विकास कार्यों का सिल‍सिलेवार ब्‍यौरा दिया। उन्‍होंने कहा कि केन्द्र सरकार की कृषि उत्पादक संगठन नीति (एफपीओ) के पूरक के रूप में राज्य सरकार द्वारा कृषि उत्पादक संगठनों को प्रोत्साहित करने की नीति के अन्तर्गत प्रदेश के 825 विकास खण्डों में कम से कम एक एफपीओ के गठन की कार्यवाही चल रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़