चुनाव आयोग का फैसला, 1000 लोगों की सभा को मिली इजाजत, 11 फरवरी तक बढ़ा रैलियों पर प्रतिबंध

Election Commission
अंकित सिंह । Jan 31, 2022 3:44PM
चुनाव आयोग ने 11 फरवरी तक रैलियों पर प्रतिबंध बढ़ा दिया है। हालांकि आज चुनाव आयोग की ओर से प्रचार के लिए राजनीतिक दलों को थोड़ी राहत जरूर दी गई है। चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को 1000 लोगों के साथ चुनावी सभा करने की इजाजत दे दी है।

पांच राज्यों में विधानसभा के चुनाव हो रहे हैं। इन 5 राज्यों में उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर शामिल है। हालांकि देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर भी अपने चरम पर है। कोरोना वायरस की रफ्तार को देखते हुए चुनाव आयोग में चुनावी रैली और रोड शो पर रोक लगा रखी है। चुनाव आयोग ने 11 फरवरी तक रैलियों पर प्रतिबंध बढ़ा दिया है। हालांकि आज चुनाव आयोग की ओर से प्रचार के लिए राजनीतिक दलों को थोड़ी राहत जरूर दी गई है। चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को 1000 लोगों के साथ चुनावी सभा करने की इजाजत दे दी है। इतना ही नहीं, अब 20 लोग डोर-टू-डोर कैंपेन भी कर सकते हैं। पहले इसकी संख्या 10 थी।

इनडोर बैठक में भी अब 300 की जगह 500 लोग हिस्सा ले सकते हैं। ज्यादा लोगों के साथ रोड शो और चुनावी रैली पर अब भी पाबंदी लागू रहेगी। चुनाव ऐलान के साथ ही आयोग की ओर से रोडशो और चुनावी रैली पर प्रतिबंध लगाई गई थी जिसे 31 जनवरी तक बढ़ा दिया गया था। निर्वाचन आयोग ने चुनावी राज्यों में टीकाकरण की रफ्तार को और बढ़ाने के लिए कहा है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़