'वे समाज में दरार पैदा करके देश को खोखला कर रहे थे', PFI के खिलाफ एक्शन पर फडणवीस का बयान

devendra fadanvis
ANI
अंकित सिंह । Sep 27, 2022 3:56PM
पीएफआई के ठिकानों पर छापेमारी पर गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी का भी बयान सामने आया है। अजय मिश्रा टेनी ने साफ तौर पर कहा कि जब जांच हो रही होता है तो ये सतत प्रक्रिया है। जांच में जो-जो आता जाएगा उसी हिसाब से गिरफ़्तारियां और छापे होंगे।

देश के अलग-अलग हिस्सों में आज भी पीएफआई के ठिकानों पर जांच एजेंसियों ने जबरदस्त तरीके से छापेमारी की है। कई जगह इस मामले को लेकर संदिग्धों को गिरफ्तार भी किया गया है। वहीं, पूरे मामले पर लगातार अलग-अलग बयान भी आ रहे हैं। इन सबके बीच महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी बड़ा बयान दिया है। देवेंद्र फडणवीस ने साफ तौर पर कहा है कि पीएफआई समाज में दरार पैदा करने का काम कर रहा था। अपने बयान में फडणवीस ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों से चल रही तफ्तीश में जो तथ्य सामने आए हैं उसके आधार पर छापेमारी की जा रही है। मैं किसी के उपर ठीकरा नहीं फोड़ना चाहता लेकिन उनका (PFI) जो काम था वे समाज में दरार पैदा करके देश को खोखला कर रहे थे। 

इसे भी पढ़ें: शाहीनबाग से लेकर असम तक आठ राज्यों में NIA की ताबड़तोड़ छापेमारी, अब तक 170 से अधिक PFI सदस्य गिरफ्तार

पीएफआई के ठिकानों पर छापेमारी पर गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी का भी बयान सामने आया है। अजय मिश्रा टेनी ने साफ तौर पर कहा कि जब जांच हो रही होता है तो ये सतत प्रक्रिया है। जांच में जो-जो आता जाएगा उसी हिसाब से गिरफ़्तारियां और छापे होंगे। जो लोग इस देश में अमन-चैन, देश का विकास नहीं चाहते वो लोग प्रदर्शन भी करते हैं। आपको बता दें कि देश के छह राज्यों में  पीएफआई के विभिन्न ठिकानों पर कार्रवाई की गई है। इस दौरान उसके 90 से अधिक कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया है। पीएफआई पर कट्टर इस्लाम का प्रसार करने के आरोप है। पीएफआई के खिलाफ इसी तरह की कार्रवाई पांच दिन पहले भी की गई थी।

इसे भी पढ़ें: क्या सचमुच RSS के नजदीक जाएंगे मुस्लिम? आखिर क्या है मोहन भागवत के मस्जिद जाने के मायने

छापेमारी के दौरान पुलिस ने असम में 25, महाराष्ट्र में चार और दिल्ली में 30 लोगों कोा हिरासत में लिया है। वहीं, पुणे पुलिस ने पीएफआई और इसकी राजनीतिक इकाई सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) से जुड़े छह लोगों को हिरासत में लिया है। असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने पहले कहा था कि राज्य सरकार ने आतंकवादी गतिविधियों के लिए कथित तौर पर एक तंत्र बना रहे संगठन को प्रतिबंधित करने के लिए केंद्र से आग्रह किया है। पूरे मामले पर उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि पीएफआई के नेटवर्क को पूरी तरह से ध्वस्त किया जा रहा है। पूरे प्रदेश में सतर्कता बढ़ा दी गई है। लोग सर्विलांस पर हैं। किसी भी स्थिति में हम प्रदेश में गैर कानूनी गतिविधियों को अनुमति नहीं देंगे। कड़ी कार्रवाई करेंगे।

अन्य न्यूज़