नड्डा बोले- बंगाल में टीकाकरण सबसे कम, फर्जी टीकाकरण भी हो रहा है

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 29, 2021   19:11
नड्डा बोले- बंगाल में टीकाकरण सबसे कम, फर्जी टीकाकरण भी हो रहा है

नड्डा ने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो बनर्जी टीकाकरण अभियान को लेकर रोज-रोज ‘‘अपने बयान बदल रही हैं’’ और केन्द्र सरकार द्वारा राज्यों को नि:शुल्क टीका उपलब्ध कराए जाने के बावजूद राज्य सरकार इस प्रक्रिया में असफल हुई है।

कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा और आरोप लगाया कि राज्य में कोविड-19 का टीकाकरण प्रतिशत सबसे कम है और फर्जी टीकाकरण शिविरभी लगाए जा रहेहैं। उन्होंने यह भी दावा किया कि राज्य में ‘चुनाव के बाद संगठित हिंसा’ हो रही है और यहां महिला मुख्यमंत्री होने के बावजूद महिलाओं को उत्पीड़न का शिकार होना पड़ रहा है। नड्डा ने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो बनर्जी टीकाकरण अभियान को लेकर रोज-रोज ‘‘अपने बयान बदल रही हैं’’ और केन्द्र सरकार द्वारा राज्यों को नि:शुल्क टीका उपलब्ध कराए जाने के बावजूद राज्य सरकार इस प्रक्रिया में असफल हुई है।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आंबेडकर स्मारक का किया शिलान्यास, जानिए खास बातें

उन्होंने कहा, ‘‘अगर आप आंकड़ों को देखें तो पश्चिम बंगाल में टीकाकरण सबसे कम है। यह इकलौता राज्य है जहां आपको फर्जी टीकाकरण शिविर संचालित होते मिल जाएंगे। हमने कभी फर्जी टीकाकरण के बारे में नहीं सुना है। यहां तक कि तृणमूल कांग्रेस की सांसद मिमि चक्रवर्ती को भी फर्जी टीका लग गया है।’’ कोलकाता में संदेहास्पद शिविर का आयोजन करने के मामले में हाल ही में इसटीका शिविर के सरगना सहित कई लोगों को गिरफ्तार किया गया। इस शिविर में कई लोगों ने टीका भी लगवाया था। भाजपा अध्यक्ष राज्य में विधानसभा चुनाव समाप्त होने के बाद पार्टी की बंगाल इकाई की पहली कार्यकारिणी समिति की बैठक को ऑनलाइन संबोधित कर रहे थे। नड्डा ने कहा कि चुनाव बाद हिंसा ने राज्य प्रशासन की असफलता को साफ-साफ दिखाया है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा कार्यकर्ताओं के आधार कार्ड और राशन कार्ड वापस ले लिए गए हैं और पुलिस मूक दर्शक बनी हुई है। उन्होंने सवाल किया, ‘‘यह सबकुछ एक महिला मुख्यमंत्री के शासन में हुआ है। महिलाएं तमाम उत्पीड़न झेल रही हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।