भोपाल में भीषण आग 12 दुकानें पूरी तरह जल कर खाक

Fierce fire in Bhopal
दिनेश शुक्ल । Oct 27, 2020 12:14PM
आग लगने की सूचना मिलने के बाद आग बुझाने के लिए फायर बिग्रेड की 25 गाड़ियों को लगाना पड़ा। फायर ब्रिगेड ने सुबह करीब साढ़े 6 बजे आग पर पूरी तरह काबू पाया। हालंकि अभी तक आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है, लेकिन पुलिस और फायर टीम इसे शॉर्ट सर्किट मानकर चल रही है।

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के न्यू मार्केट इलाके में देर रात भीषण आग लगने से 12 दुकाने पूरी तरह जलकर खाक हो गई। ये दुकानें आपस में एक दूसरे से सटी हुई थी जिसके चलते एक-एक कर आग फैलती गई। आग लगने से दुकान और गोदाम में रखा लाखों का सामान जलकर राख हो गया। आग लगने की यह घटना सोमवार-मंगलवार की दर्मयानी रात करीब ढाई बजे की बताई जा रही है। आग लगने की सूचना मिलने के बाद आग बुझाने के लिए फायर बिग्रेड की 25 गाड़ियों को लगाना पड़ा। फायर ब्रिगेड ने सुबह करीब साढ़े 6 बजे आग पर पूरी तरह काबू पाया। हालंकि अभी तक आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है, लेकिन पुलिस और फायर टीम इसे शॉर्ट सर्किट मानकर चल रही है। वही आग की इस भीषण घटना में अच्छी बात यह रही कि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ है।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस के मंत्री-विधायकों ने ही कांग्रेस की सरकार को गिराया- उमा भारती

बताया जा रहा है कि पिछले एक पखवाड़े में न्यू मार्केट में आग लगने की यद दूसरी घटना है। पुलिस के अनुसार टीटी नगर थाना पुलिस की नाइट गश्त की टीम को रात करीब ढाई बजे न्यू मार्केट की तरफ से भारी मात्रा में धुंआ निकलता दिखा। वहाँ जाने पर बाजार में दुकानें जलती दिखीं। इसके बाद मौके पर फायर टीम को बुलाया गया। आग को बढ़ता देख नगर निगम के साथ ही भेल की फायर टीम को भी मौके पर बुलाना पड़ा। पुल बोगदा, माता मंदिर, भेल समेत अन्य जगहों से 25 गाड़ियों को मौके पर भेजा गया। फायर टीम ने करीब 4 घंटे की मेहनत के बाद आग पर काबू पा लिया। पुलिस के अनुसार यह सभी दुकानें सब्जी मंडी की तरफ की हैं। यहां पर कपड़ों, जूतों और ब्यूटी सामान की शॉप हैं। इस कारण आग अंदर ही अंदर भड़कती रही। शटर बंद होने के कारण फायर टीम को आग बुझाने में काफी मेहनत करना पड़ा।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़