गुजरात विधानसभा चुनावों की पांच हॉट सीटें, जो बनी हुई है चर्चा का विषय

pm modi rally
ANI Image
रितिका कमठान । Nov 25, 2022 11:58AM
गुजरात विधानसभा चुनाव का आयोजन होने में कुछ ही दिनों का समय शेष रह गया है। सभी पार्टियां चुनावों के मद्देनजर चुनाव प्रचार में तेजी से जुटी हुई है। गुजरात की कुछ प्रमुख सीटें हैं जिन पर हमेशा ही नजरें बनी रहती हैं, आईए डालते हैं इन सीटों के आंकड़ों पर एक नजर।

गुजरात विधानसभा चुनाव का आयोजन 2 चरणों में एक और पांच दिसंबर को होना है। इस चुनाव के बाद मतगणना आठ दिसंबर को की जानी है। गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण में 89 और दूसरे चरण में 93 सीटों पर मतदान होगा। इन चुनावों के दौरान आपको बताते हैं कुछ प्रमुख सीटों का हाल, जो इन चुनावों में चर्चा में है।

मणिनगर - ये सीट अहमदाबाद जिले में आती है, जहां हिंदू मतदाता काफी संख्या में है। यही कारण है कि ये सीट वर्ष 1990 से भाजपा का गढ़ रही है। इस सीट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी विधायक रह चुके है। उन्होंने वर्ष 2002, 2007 और 2012 में इस सीट से जीत दर्ज की थी। उन्होंने वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद इस पद से इस्तीफा दिया था। इसके बाद उपचुनाव में सुरेशभाई धनजीभाई पटेल ने जीत दर्ज की। वर्ष 2017 के चुनाव में भी उन्होंने इस सीट पर कांग्रेस की ब्रह्मभट्ट श्वेताबेन नरेंद्रभाई को लगभग 75,199 मतों से मात दी थी। 

घाटलोदिया - अहमदाबाद की ही ये एक और सीट है, जो पाटीदार मतदाताओं के कारण काफी अहम मानी जाती है। इस सीट से गुजरात को दो मुख्यमंत्री मिल चुके है। आनंदीबेन पटेल और भूपेंद्र पटेल इस सीट से जीतकर मुख्यमंत्री बन चुके हैं। ये सीट 2008 में परिसीमन के बाद बनाई गई, जिसपर वर्ष 2012 में पहली बार चुनाव हुए थे। वर्ष 2017 में यहां पटेल भूपेंद्र भाई रजनीकांत विधायक चुने गए थे, जो बीजेपी से हैं।

मोरबी - मोरबी सीट पाटीदार आंदोलन और हाल ही में पुल ढहने की घटना के कारण चर्चा में बनी हुई है। इस सीट पर भाजपा की ओर से पांच बार की विधायक कांती अमृतिया को पारीदार आंदोलन के कारण ही सीट से हाथ धोना पड़ा था। उन्हें कांग्रेस के ब्रिजेश मेरजा ने मात दी थी। हालांकि वर्ष 2020 में ब्रिजेश खुद भी भाजपा में शामिल हुए और उन्हें उपचुनाव में जीत मिली। वर्तमान में वो राज्यमंत्री के पद पर भी बने हुए है।

राजकोट पूर्व - ये सीट भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़ी हुई है। इस सीट पर नरेंद्र मोदी ने फरवरी 2002 में जीत हासिल की थी। वहीं वर्ष 1980 से 2007 तक छह बार इस सीट पर भाजपा के वजुभाई वाला सत्ता में रहे थे। 

गांधी नगर उत्तर - ये सीट गांधी नगर क्षेत्र में है, जो वर्ष 2008 में अस्तित्व में आया था। वर्ष 2012 में यहां पहली बार चुनाव हुए थे तब अशोक पटेल ने 4000 के अंतर से जीत दर्ज की थी। हालांकि वर्ष 2017 में ये सीट कांग्रेस के झोले में चली गई। इस सीट पर वर्तमान में सीजे चावड़ा विधायक है।

अन्य न्यूज़