राष्ट्रपति के रूप में कार्यकाल समाप्त होने पर रामनाथ कोविंद नए घर-12 जनपथ पहुंचे, सोनिया गांधी के बने पड़ोसी

Ram Nath Kovind
ANI Image
भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट किया, ‘‘आज पूर्व राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद जी से मुलाकात कर उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं। राष्ट्रपति के रूप में, उन्होंने विनम्रता, अनुग्रह और ईमानदारी के साथ राष्ट्र की सेवा की। वंचित वर्गों तक उनकी पहुंच और उनके सम्मानजनक व्यवहार को हमेशा याद किया जाएगा’’

नयी दिल्ली। राष्ट्रपति के रूप में कार्यकाल समाप्त होने के बाद रामनाथ कोविंद सोमवार को जनपथ रोड स्थित अपने नए आवास पहुंचे जहां केंद्रीय मंत्रियों और भाजपा प्रमुख जेपी नड्डा सहित कई गणमान्य व्यक्तियों ने उनका स्वागत किया। द्रौपदी मुर्मू के राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने के बाद कोविंद राष्ट्रपति भवन छोड़कर अपने नए आवास 12 जनपथ पहुंचे। परंपरा के तौर पर इस दौरान राष्ट्रपति मुर्मू भी उनके साथ थीं।

इसे भी पढ़ें: कोविंद ने राष्ट्रपति के तौर पर भाजपा के राजनीतिक मकसद पूरे किए : महबूबा मुफ्ती 

इससे पहले, पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान करीब तीन दशक तक 12 जनपथ स्थित इस बंगले में रहे थे। पासवान का 2020 में निधन हो गया था और उनके बेटे चिराग पासवान ने नोटिस मिलने के बाद अप्रैल में बंगला खाली कर दिया था। बंगले को, राष्ट्रपति के तौर पर कोविंद का कार्यकाल पूरा होने के बाद उनके आवास के रूप में तैयार किया गया है।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के भाषण से प्रभावित हुए अशोक गहलोत, कहा- मैंने उनके एक-एक शब्द सुने हैं 

नड्डा ने ट्वीट किया, ‘‘आज पूर्व राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद जी से मुलाकात कर उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं। राष्ट्रपति के रूप में, उन्होंने विनम्रता, अनुग्रह और ईमानदारी के साथ राष्ट्र की सेवा की। वंचित वर्गों तक उनकी पहुंच और उनके सम्मानजनक व्यवहार को हमेशा याद किया जाएगा’’ कानून मंत्री किरेन रीजीजु ने ट्वीट किया, ‘‘परंपरा के तौर पर माननीय राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू जी के साथ पूर्व राष्ट्रपति आदरणीय रामनाथ कोविंद जी का नयी दिल्ली में 12-जनपथ पर उनके नए आवास में स्वागत किया।’’ केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी और वी के सिंह भी कोविंद का स्वागत करने वालों में शामिल थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़