प्रयागराज में एक ही परिवार के चार लोगों की धारदार हथियार से हत्या

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 25, 2021   17:49
प्रयागराज में एक ही परिवार के चार लोगों की धारदार हथियार से हत्या

पुलिस अधिकारी के अनुसार मृतकों की पहचान फूलचंद (50), पत्नी मीनू देवी (45), बेटी सपना (17) और बेटा शिवा (13) के रूप में की गई है। त्रिपाठी ने बताया कि सपना का शव कमरे के भीतर पड़ा मिला, जबकि बाकी तीन लोगों के शव बरामदे में थे।

प्रयागराज (उप्र)। प्रयागराज जिले के गंगापार स्थित फाफामऊ के लाल मोहन गंज गांव में बुधवार की रात एक ही परिवार के चार लोगों की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने बताया कि लाल मोहन गंज गांव में कल रात एक ही परिवार के चार लोगों की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई, ऐसा दिखाई दे रहा है कि चारों के सिर पर कुल्हाड़ी से वार किया गया है,। पुलिस अधिकारी के अनुसार मृतकों की पहचान फूलचंद (50), पत्नी मीनू देवी (45), बेटी सपना (17) और बेटा शिवा (13) के रूप में की गई है।

इसे भी पढ़ें: सलमान खान के खानदान की बहू बनने जा रही हैं शत्रुघ्न सिन्हा की बेटी सोनाक्षी सिंहा! पहला प्यार से उठा पर्दा

त्रिपाठी ने बताया कि सपना का शव कमरे के भीतर पड़ा मिला, जबकि बाकी तीन लोगों के शव बरामदे में थे। उनके अनुसार आज सुबह ही इस घटना की सूचना मिली और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि इस घटना के पीछे की वजह क्या रही, इसका पता लगाया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: रहस्यमय परिस्थितियों में मृत पाए गए सिंगर हरिनी के पिता, जांच में जुटी पुलिस

उनका कहना था कि इसके अलावा, परिवार के लोगों ने बताया कि 2019 और 2021 में इन्होंने (फूलचंद) भूमि के विवाद में कुछ लोगों के खिलाफ एससी एसटी का मामला दर्ज कराया था लेकिन उस मामले में कार्रवाई नहीं की गयी। त्रिपाठी ने बताया कि परिजनों से पूछताछ के आधार पर संदिग्ध लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पुलिस जल्द ही इस मामले का खुलासा करेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।