केंद्रीय कानूनों का विरोध कर किसानों को गुमराह कर रहे हैं गहलोत: सतीश पूनिया

Satish Poonia
पूनिया ने एक बयान में कहा, गहलोत सहकारी संघवाद की बात करते हैं औरकेन्द्र के कल्याणकारी कृषि कानूनों के खिलाफ विधानसभा में संशोधन विधेयक ला रहे हैं। हकीकत जबकि यह है कि केन्द्र सरकार द्वारा बनाये गये किसी भी कानून के खिलाफ राज्य सरकार कोई कानून नहीं ला सकती।
जयपुर। राजस्थान भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने शनिवार को कहा कि केंद्रीय कृषि कानूनों का विरोध कर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राज्य के किसानों को गुमराह कर रहे हैं। राज्य सरकार ने केंद्र सरकार के कृषि संबंधी कानूनों के राज्य के किसानों पर असर को निष्प्रभावी करने के लिए तीन संशोधन विधेयक शनिवार को विधानसभा में पेश किए। इस पर अपनी प्रतिक्रिया में पूनियां ने कहा कि गहलोत मोदी सरकार के कल्याणकारी कृषि कानूनों के खिलाफ विधानसभा का सत्र आहूत करवाकर प्रदेश के किसानों को गुमराह करने का काम कर रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: राजस्थान में मास्क पहनना होगा जरूरी, विधेयक लाई सरकार

पूनिया ने एक बयान में कहा, गहलोत सहकारी संघवाद की बात करते हैं औरकेन्द्र के कल्याणकारी कृषि कानूनों के खिलाफ विधानसभा में संशोधन विधेयक ला रहे हैं। हकीकत जबकि यह है कि केन्द्र सरकार द्वारा बनाये गये किसी भी कानून के खिलाफ राज्य सरकार कोई कानून नहीं ला सकती। इस बीच पूनियां ने जयपुर, जोधपुर व कोटा के महापौर चुनाव हेतु चुनाव समिति का गठन किया है। चुनाव समिति में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया, उपनेता राजेन्द्र राठौड़, केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल व कैलाश चौधरी को शामिल किया गया है। इसके साथ ही पार्टी ने पंचायत चुनाव-2020 के संचालन के लिए भी राज्य स्तरीय चुनाव संचालन समिति गठित की है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़