Congress सरकार के रिपीट होने पर कल्याणकारी योजनाएं और मजबूत होंगी: Gehlot

Gehlot
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
बैठक में विभागीय सचिव स्तर के अधिकारी उपस्थित रहे। बैठक के बाद गहलोत ने संवाददाताओं से कहा,‘‘मेरी (कांग्रेस) सरकार यदि रिपीट होगी तो (चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना जैसी) योजनाएं मजबूत होंगी।’’

चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना सहित अपनी सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को कहा कि राजस्थान में यदि कांग्रेस सरकार रिपीट (दोबारा) होगी तो ये योजनाएं और मजबूत होंगी। गहलोत ने बजट 2023 की घोषणाओं को समय से पूर्ण करने को लेकर यहां उच्च स्तरीय बैठक में यह बात कही। बैठक में विभागीय सचिव स्तर के अधिकारी उपस्थित रहे। बैठक के बाद गहलोत ने संवाददाताओं से कहा,‘‘मेरी (कांग्रेस) सरकार यदि रिपीट होगी तो (चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना जैसी) योजनाएं मजबूत होंगी।’’

उन्होंने राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा पर भी निशाना साधते हुए कहा, ‘‘ये लोग सरकार बदलते ही पुरानी योजनाओं का काम बंद कर देते हैं।’’ यह मौजूदा सरकार का आखिरी बजट था क्योंकि राज्य में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। राजस्थान ने लगभग तीन दशकों में एक भी सरकार नहीं दोहराई है। बाड़मेर रिफाइनरी परियोजना में देरी का जिक्र करते हुए गहलोत ने कहा कि सरकारें बदलने का नुकसान होता है।

उन्होंने कहा कि अगर सरकार नहीं बदलती तो अब तक रिफाइनरी पूरी हो जाती, पेट्रोकेमिकल परिसर पूरा हो जाता, उत्पादन शुरू हो जाता है; लाखों हजारों लोगों को फायदा होता। उन्होंने कहा कि सरकार बदलने का यह नुकसान होता है। गहलोत ने कहा,‘‘ ये लोग (भाजपा वाले) सरकार बदलते ही पुरानी योजनाओं का काम बंद कर देते हैं। हम इनकी किसी योजना का काम बंद नहीं करते... हमारा दृष्टिकोण अलग है, उनका दृष्टिकोण उल्टा है। इसलिए मैं बार-बार जनता से कहता हूं कि हमारी सरकार रिपीट करवाएं जिससे मैं जो योजनाएं इस बार लेकर आया हूं वे योजनाएं आने वाले वक्त में और मजबूत हो सकें।’’

गहलोत ने कहा,‘‘ दावे के साथ मैं कह सकता हूं कि अब जो हमारी योजनाएं आई हैं उनको आधार बनाकर ही हर राजनीतिक पार्टी, हर राज्य में अपना चुनाव घोषणा पत्र बनाएगी और हमारी योजना को उसमें शामिल करेंगी।’’ उन्होंने कहा,‘‘ जनता को मेरे मर्म को समझना चाहिए कि मैं क्या बोल रहा हूं। प्रथम सेवक के रूप में जो मैं काम रहा हूं, इतनी शानदार योजनाएं तो इतिहास में कभी नहीं आई होगी।’’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, पेट्रोलियम मंत्री हरदीप पुरी के हालिया राजस्थान दौरे पर निशाना साधते हुए कहा,‘‘ इनका ये चलता रहेगा, इनके पास (भाजपा) और कोई काम नहीं है।’’ उन्होंने केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत पर निशाना साधते हुए कहा कि संजीवनी घोटाले के अन्य गिरफ्तार आरोपियों की तरह ही पुलिस जांच में ही उनका अपराध साबित हुआ है।

उन्होंने कहा कि शेखावत संजीवनी को-ऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड घोटाले के मामले में जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं, जबकि स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) की जांच में उन्हें भी उन्हीं धाराओं के तहत दोषी ठहराया गया है, जिनमें अन्य गिरफ्तार आरोपी हैं। गहलोत ने कहा,‘‘मेरी मांग है कि अविलंब ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) को मामले को लेकर संपत्ति कुर्क करनी चाहिए।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले में कई लोग जेल में हैं और प्रधानमंत्री को उनपर (शेखावत) लगे आरोपों की जांच करवानी चाहिए।

बजट घोषणाओं को समय बद्ध पूर्ण करने की उच्च स्तरीय बैठक के दौरान, गहलोत ने अधिकारियों को उनके समय पर क्रियान्वयन के निर्देश दिए और कहा कि उनकी सरकार अपनी कल्याणकारी योजनाओं को सभी तक पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अपनी जनकल्याणकारी योजनाओं को अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि पिछले चारों बजट की 2722 घोषणाओं में से 95 प्रतिशत से अधिक घोषणाओं की स्वीकृति जारी की जा चुकी है तथा 87 प्रतिशत घोषणाओं की क्रियान्विति पूर्ण एवं प्रगतिरत हैं।

बयान के अनुसार बैठक में उन्होंने कहा कि बजट को लेकर आमजन में विद्यमान उत्साह को संतुष्टि में बदलने के लिए सभी विभाग आपसी समन्वय के साथ कार्य कर घोषणाओं का सफल क्रियान्वयन सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि बजट में युवा, किसान, पशुपालक, श्रमिक, विद्यार्थी, बुजुर्ग, महिलाओं सहित सभी वर्गो का ध्यान रखा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बजट घोषणाओं के सफल क्रियान्वयन में अधिकारियों एवं कर्मचारियों की अहम भूमिका रहती है।

जनकल्याणकारी योजनाओं को धरातल पर उतारने में राज्य के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने सराहनीय कार्य किया है। मुख्य सचिव उषा शर्मा ने कहा कि सभी विभाग बजट घोषणाओं को समयबद्ध रूप से लागू करने के लिए कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बजट घोषणाओं को तीन श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़