• गिरिराज को कोर्ट से मिली राहत, वंदे मातरम वाले बयान पर मिली जमानत

अभिनय आकाश May 07, 2019 13:30

चौथे चरण के चुनाव प्रचार के दौरान बेगूसराय की जनसभा में गिरिराज सिंह ने अमित शाह की मौजूदगी में मंच से वंदे मातरम बोलने को लेकर एक बयान दिया था। गिरिराज ने कहा था कि राजद उम्मीदवार जब दरभंगा जाते हैं तो वहां वंदे मातरम बोलने से इनकार करते हैं और अब बेगूसराय में वोट मांग रहे हैं।

बेगूसराय। भारतीय जनता पार्टी के बेगूसराय प्रत्याशी और अपने बयानों की वजह से अक्सर विवादों में रहने वाले गिरिराज सिंह को कोर्ट से राहत मिल गई है। कोर्ट ने आचार संहिता उल्लंघन के एक मामले में गिरिराज सिंह को जमानत दे दी है। दरअसल, गिरिराज सिंह की तरफ से बेगूसराय सीजीएम कोर्ट में जमानत की अर्जी दाखिल की गई थी, जिसे फौरी तौर पर सुनने के बाद न्यायालय ने उनको जमानत दी।

इसे भी पढ़ें: चुनाव आयोग को चुनाव में बुर्के पर प्रतिबंध लगाना चाहिए: गिरिराज सिंह

बता दें कि चौथे चरण के चुनाव प्रचार के दौरान बेगूसराय की जनसभा में गिरिराज सिंह ने अमित शाह की मौजूदगी में मंच से वंदे मातरम बोलने को लेकर एक बयान दिया था। गिरिराज ने कहा था कि राजद उम्मीदवार जब दरभंगा जाते हैं तो वहां वंदे मातरम बोलने से इनकार करते हैं और अब बेगूसराय में वोट मांग रहे हैं। उन्‍होंने कहा था कि हमारे नाना-दादा तो मरकर सिमरिया में प्रवाहित हो गए, लेकिन इनको दफन होने के लिए 3 गज जमीन की भी आवश्यकता पड़ेगी। जनता सब कुछ देख रही है। गिरिराज के इस बयान पर चुनाव आयोग ने संज्ञान लेते हुए आचार संहिता उलंघन तथा विवादित बयान देने का मामला दर्ज कराया था। इसमें सीजीएम ठाकुर अमन कुमार ने गिरिराज सिंह को फिलहाल राहत देते हुए उन्हें जमानत दे दी।