मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने संभाला कार्यभार, बोले- 5 साल में मेनिफेस्टो के सभी वादों को करेंगे पूरा

मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने संभाला कार्यभार, बोले- 5 साल में मेनिफेस्टो के सभी वादों को करेंगे पूरा
प्रतिरूप फोटो

कार्यभार संभालने के बाद मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने बताया कि खनन फिर से शुरू करना हमारी प्राथमिकता होगी। अपने मेनिफेस्टो में हमने जो कहा है उन तमाम चीजों को हम 5 साल में करेंगे। आपको बता दें कि मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत कई नेता शामिल हुए।

पणजी। तीन बार के विधायक प्रमोद सावंत ने सोमवार को लगातार दूसरी बार गोवा के मुख्यमंत्री पद एवं गोपनियता की शपथ ली। इसके बाद मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने पणजी में अपना कार्यभार संभाला। मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने बताया कि स्वयंपूर्ण गोवा 2.0 मिशन शुरू होगा, सभी सेक्टर में रोज़गार पैदा करना प्राथमिकता रहेगी, केंद्र सरकार के सहयोग से गोवा में पर्यटन को बढ़ावा देने की हमारी कोशिश रहेगी। 

इसे भी पढ़ें: प्रमोद सावंत ने CM पद की ली शपथ, दूसरी बार बने गोवा के मुख्यमंत्री, 8 विधायकों ने ली मंत्री पद की शपथ 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, कार्यभार संभालने के बाद मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने बताया कि खनन फिर से शुरू करना हमारी प्राथमिकता होगी। अपने मेनिफेस्टो में हमने जो कहा है उन तमाम चीजों को हम 5 साल में करेंगे। आपको बता दें कि मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत कई भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हुए।

इसे भी पढ़ें: चुनावों में जीत लोगों के मोदी के नेतृत्व में भरोसे का प्रमाण, कांग्रेस का हुआ सफाया : अमित शाह

8 विधायकों ने ली मंत्री पद की शपथ

प्रमोद सावंत मंत्रिमंडल में विश्वजीत पी राणे, मौविन गोडिन्हो, रवि नाइक, नीलेश कैबराल, सुभाष शिरोडकर, रोहन खुंटे, गोविंद गौते और अतानासियो मोनसेरेट को शामिल किया गया। प्रमोद सावंत उत्तरी गोवा के सांखालिम से विधायक हैं। 2017 में जब मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में भाजपा ने अपनी सरकार बनाई तो उन्हें विधानसभा अध्यक्ष चुना गया। उन्होंने मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद मार्च 2019 में पहली बार मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। प्रमोद सावंत पेशे से एक आयुर्वेद चिकित्सक हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...