गोरखपुर जनपद में 370 तालाबों की खुदाई जारी, मनरेगा मजदूरों ने की तालाब बनाने की शुरूआत

गोरखपुर जनपद में 370 तालाबों की खुदाई जारी, मनरेगा मजदूरों ने की तालाब बनाने की शुरूआत
प्रतिरूप फोटो

गोरखपुर जनपद में 370 तालाबों को मत्स्य पालन के लिए मनरेगा मजदूरों के द्वारा तालाब बनाने का कार्य चल रहा है। जिन जगहों पर पानी लगा है पानी निकासी होने के बाद उन तालाबों की खुदाई शुरू की जाएगी।

गोरखपुर। कृषि उत्पादन आयुक्त प्रभात कुमार,अपर मुख्य सचिव देवेश चतुर्वेदी, कृषि निदेशक विवेक कुमार सिंह लखनऊ से वीडियो कांफ्रेंसिंग कर गोरखपुर मंडल आयुक्त सभागार में मंडलायुक्त रवि कुमार एनजी,जिला अधिकारी विजय किरन आनंद, अपर आयुक्त अजय कांत सैनी, सीडीओ इंद्रजीत सिंह, उप कृषि निदेशक संजय सिंह, उप कृषि निदेशक भूमि संरक्षण,उप कृषि निदेशक पशुपालन,अधीक्षण अभियंता, नलकूप, उप निदेशक मत्स्य, क्षेत्रीय प्रबंधक बीज सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों से किसानों की लागत से दोगुना पैदावार रवि उत्पादन  कराने के लिए जोर दिया।

इसे भी पढ़ें: गोरखपुर कांग्रेस अपने नेता की रिहाई के लिए करेगी धरना प्रदर्शन

कृषि उत्पादन आयुक्त ने कहा कि किसानों द्वारा धान की कटाई कर पराली को जलाया ना जाए, धान के अवशेषों को एकत्र कर खाद बनाने की कार्यों में लाया जाए सभी मंडलायुक्त व जिलाधिकारी अपने-अपने जनपदों में चौपाल लगाकर किसानों को जागरूक करें जिससे किसान पराली को ना जलायें।  उत्पादन आयुक्त ने कहा कि किसानों का चौपाल लगाकर किसानों को जागरूक करें जिससे किसान लागत से अधिक  उत्पादन उत्पन्न कर सके। मंडलायुक्त रवि कुमार एनजी ने उत्पादन आयुक्त से कहा कि गोरखपुर मंडल में तालाबों की खुदाई के लिए प्रदेश सरकार ने 819 करोड़ रुपए स्वीकृत किया है।

इसे भी पढ़ें: गोरखपुर में सवा सौ साल में, इस अक्टूबर में दर्ज की गई सर्वाधिक बारिश

गोरखपुर जनपद में 370 तालाबों को मत्स्य पालन के लिए मनरेगा मजदूरों के द्वारा तालाब बनाने का कार्य  चल रहा है। जिन जगहों पर पानी लगा है पानी निकासी होने के बाद उन तालाबों की खुदाई शुरू की जाएगी। मंडल में स्ट्रॉबेरी, मशरूम, केला के लिए उपयुक्त भूमि है। सरकार द्वारा किसानों को पर्याप्त संसाधन उपलब्ध कराया जाए तो किसान स्ट्रॉबेरी, केला व मशरूम की खेती से उपज  कर लाभान्वित हो सकते हैं। कमिश्नर ने एमएसपी को और बढ़ाने के लिए जोर दिया जिससे किसान अधिक से अधिक लाभान्वित हो सकें। जिलाधिकारी विजय किरन आनंद ने कहा कि किसानों का चौपाल प्रतिदिन लगाकर किसानों को जागरूक किया जा रहा है जिससे किसान लागत से अधिक पैदावार कर लाभान्वित हो सकेंगें।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...