प्रशासन की आंखें खोलने के लिए संगठन बजा रहा बिगुल: तिसरी आंख

प्रशासन की आंखें खोलने के लिए संगठन बजा रहा बिगुल: तिसरी आंख
प्रतिरूप फोटो

तीसरी आंख मानवाधिकार संगठन के संस्थापक महासचिव शैलेंद्र कुमार मिश्र ने शासन व प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि आम आवाम की समस्याओं का निस्तारण नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शासन प्रशासन के कान बहरे हो चुके हैं।

गोरखपुर। अवैध निर्माण व व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ तीसरी आंख मानवाधिकार संगठन का लगातार 15 वें दिन क्रमिक धरने का क्रम जारी है। परंतु नौकरशाहों की हठधर्मिता के कारण संगठन की जायज मांगों को संज्ञान में नहीं लिया जा रहा है। तीसरी आंख मानवाधिकार संगठन के संस्थापक महासचिव शैलेंद्र कुमार मिश्र ने शासन व प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि आम आवाम की  समस्याओं का निस्तारण नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शासन प्रशासन के कान बहरे  हो चुके हैं। 

जनता की आवाज उनके कानों तक नहीं पहुंच पा रही है। उनके आंख व कानों को खोलने के लिए संगठन आंदोलन का बिगुल बाजा चुकी है। उन्होंने कहा कि अतिशीघ्र अवैध कब्जा धारियों अवैध निर्माण कर्ताओं एवं संरक्षण दाताओं के विरुद्ध शीघ्र संवैधानिक कानूनी कार्यवाही नहीं की गई तो संगठन आर-पार की लड़ाई लड़ने के लिए तैयार है। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से उपस्थित संगठन के संरक्षक डा. पी.एन. भट्ट, संस्थापक महासचिव शैलेन्द्र कुमार मिश्र, प्रदेश सचिव उ.प्र. व राष्ट्रीय संयुक्त अधिवक्ता मंच के वरिष्ठ अधिवक्ता अनुप मिश्रा, अशोक तिवारी दिवानी बार गोरखपुर, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य विपुल मिश्रा, प्रदेश आई.टी. सेल प्रभारी अमरजीत यादव, आईटी सेल सदस्य धर्मराज यादव, दुर्गेश यादव, दिनेश यादव, वरिष्ठ कार्यकर्ता जियाउद्दीन अन्सारी, वरिष्ठ वरिष्ठ अधिवक्ता राजेश शुक्ला कमिश्नरी बार गोरखपुर, अनूप कुमार मिश्रा एडवोकेट स्नेहा मिश्रा एडवोकेट दीवानी कचहरी गोरखपुर विरेन्द्र कुमार वर्मा, विरेन्द्र राय, जिला मंत्री रामचन्दर दूबे मौजूद रहे।

इसमें जिला संयोजक राजमंगल गौर, जिला मीडिया प्रभारी शशी कांत, महानगर अघ्यक्ष संतोष गुप्ता, गोकुल गुप्ता जनपद कुशीनगर सूर्य देव शर्मा, सतीश कुशवाहा, अजय, जाहिद अली, मजहर उर्फ लाड़ले, नानू अंसारी, बृजराज सैनी, अमर सिंह, अजय कुमार सिंह, उमाशंकर मझवार, विनोद एडवोकेट कमिश्नर ई बार गोरखपुर शंभू सिंह श्रीनेत, दुर्ग विजय गौड़ एडवोकेट दिवानी बार गोरखपुर संजय गुप्ता, रुपेश शुक्ला, श्याम जी मद्धेशिया, महेंद्र मोहन तिवारी, सतीश मौर्या, विशाल, आदर्श, वंश गुप्ता, गोलू, वृंदावन शर्मा, सतीश चन्द्र कुशवाहा, राजकुमार यादव, और जय बहादुर इत्यादि लोग उपस्थित रहे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।