बुजुर्गों, दिव्यांगों को घरों के पास टीका लगाने के संबंध में सरकार ने दिशानिर्देश जारी किये

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 28, 2021   11:12
बुजुर्गों, दिव्यांगों को घरों के पास टीका लगाने के संबंध में सरकार ने दिशानिर्देश जारी किये

केंद्र सरकार ने बृहस्पतिवार को घरों के पास टीकाकरण के संबंध में दिशानिर्देश जारी किये जिससे बुजुर्ग लोगों और दिव्यांगों को कोरोना वायरस से सुरक्षा के लिए टीका लगवाने में आसानी होगी।

नयी दिल्ली। केंद्र सरकार ने बृहस्पतिवार को घरों के पास टीकाकरण के संबंध में दिशानिर्देश जारी किये जिससे बुजुर्ग लोगों और दिव्यांगों को कोरोना वायरस से सुरक्षा के लिए टीका लगवाने में आसानी होगी। स्वास्थ्य मंत्रालय ने ‘घर के पास कोविड टीकाकरण केंद्र’ दिशानिर्देशों में कहा कि ऐसे केंद्रों पर वे लोग टीका लगवा सकेंगे जिनकी उम्र 60 साल से अधिक है और जिन्होंने कोई खुराक नहीं ली है या पहली खुराक ही ली है। इनके अलावा 60 साल से कम उम्र के शारीरिक या मानसिक रूप से दिव्यांग लोगों को भी यह लाभ मिलेगा। मंत्रालय ने इस संबंध में तकनीकी विशेषज्ञ समिति की सिफारिशों को स्वीकार किया है।

इसे भी पढ़ें: चक्रवाती तूफान से हुई तबाही पर पीएम मोदी और ममता की समीक्षा बैठक, राज्यपाल धनखड़ भी होंगे शामिल

आपको बता दें कि  केंद्र ने बृहस्पतिवार को कहा कि देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर मंद पड़ रही है और साथ उम्मीद जतायी कि आगामी दिनों में प्रतिबंधों में अधिक ढील देनेके बावजूद भी मामलों में कमी जारी रहेगी। लेकिन साथ ही कहा कि अब भी उपचाराधीन मामले बहुत ज्यादा हैं। केंद्र ने इस बात पर भी जोर दिया कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा प्रतिबंधों में किसी भी तरह की छूट को लेकर उचित समय पर चरणबद्ध तरीके से विचार किया जा सकता है। नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वी के पॉल ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि देश के अधिकतर हिस्से में ज्यादा जांच के बावजूद नए मामलों और संक्रमण दर के लिहाज से दूसरी लहर स्थिर हो रही है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।