देश में मंदी से सरकार बेखबर, भाजपा के लिए GDP का मतलब गोडसे डिवाइसिव पॉलिटिक्स: कांग्रेस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 29, 2019   19:49
देश में मंदी से सरकार बेखबर, भाजपा के लिए GDP का मतलब गोडसे डिवाइसिव पॉलिटिक्स: कांग्रेस

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह दावा भी किया कि भाजपा की नजर में जीडीपी का मतलब‘गोडसे डिवाइसिव पॉलिटिक्स’ होता है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने मौजूदा वित्त वर्ष में जीडीपी के गिरकर 4.5 फीसदी पहुंचने को लेकर शुक्रवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला और कहा कि देश के लोग परेशान हैं, लेकिन सरकार बेखबर है और जनता का मजाक बना रही है।

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह दावा भी किया कि भाजपा की नजर में जीडीपी का मतलब‘गोडसे डिवाइसिव पॉलिटिक्स’ होता है। उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘मंदी और तालाबंदी मोदी सरकार की पहचान बन गए हैं। इसका उपाय ढूंढने के बजाय मोदी सरकार के मंत्री जनता का मजाक बना रहे हैं। रविशंकर प्रसाद कहते हैं कि फिल्में हिट हो रही हैं इसलिए मंदी नहीं है। पीयूष गोयलआइंस्टीन का उल्लेख करते हुए कहते हैं कि आर्थिक मंदी से जुड़े आंकड़े गलत हैं।’’ सुरजेवाला ने कहा, ‘‘आज सभी तबके मंदी से जूझ रहे हैं खासकर छोटे और मझोले कारोबारी, लेकिन सरकार बेखबर है।’’ 

इसे भी पढ़ें: अर्थव्यवस्था की हालत पतली, दूसरी तिमाही में 4.5 प्रतिशत पहुंची आर्थिक वृद्धि दर

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘भारत की जीडीपी गिरकर 4.5 फीसदी हो गई है। यह पिछले छह वर्षों में किसी भी तिमाही में सबसे कम जीडीपी दर है।’’ उन्होंने कहा ‘‘भाजपा जश्न क्यों मना रही है? क्योंकि जीडीपी के बारे में उनकी समझ ‘ ‘गोडसे डिवाइसिव पॉलिटिक्स’ है।’’ गौरतलब है कि देश में विनिर्माण क्षेत्र में गिरावट और कृषि क्षेत्र में पिछले साल के मुकाबले कमजोर प्रदर्शन से चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 4.5 प्रतिशत पर रह गयी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।