CDS बिपिन रावत समेत 4 हस्तियों को पद्म विभूषण, गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण, देखें पुरस्कारों की पूरी लिस्ट

CDS बिपिन रावत समेत 4 हस्तियों को पद्म विभूषण, गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण, देखें पुरस्कारों की पूरी लिस्ट
प्रतिरूप फोटो

पिछले साल तमिलनाडु के कुन्नूर में देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 14 सशस्त्र बलों के जवानों की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत हो गई थी। ऐसे में सरकार ने उनको शौर्य को सलाम करते हुए मरणोपरांत पद्म विभूषण से सम्मानित करने का निर्णय लिया है।

नयी दिल्ली। गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या को सरकार ने पद्म पुरस्कारों का ऐलान किया है। गृह मंत्रालय ने बताया कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह , देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत को मरणोपरांत पद्म विभूषण से सम्मानित किया जाएगा। आपको बता दें कि पिछले साल तमिलनाडु के कुन्नूर में देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 14 सशस्त्र बलों के जवानों की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत हो गई थी। ऐसे में सरकार ने उनको शौर्य को सलाम करते हुए मरणोपरांत पद्म विभूषण से सम्मानित करने का निर्णय लिया है। 

इसे भी पढ़ें: गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति कोविंद ने देश को किया संबोधित, महात्मा गांधी से लेकर कोरोना महामारी तक की बात 

पद्म विभूषण सम्मान

सीडीएस जनरल बिपिन रावत (सिविल सेवा), उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह (सार्वजनिक मामले) और गीताप्रेस गोरखपुर के अध्यक्ष रहे राधेश्याम खेमका (साहित्य और शिक्षा) को मरणोपरांत पद्म विभूषण से सम्मानित किया जाएगा। जबकि भारतीय शास्त्रीय संगीतज्ञ डॉक्टर प्रभा अत्रे को भी पद्म विभूषण से नवाजा जाएगा।

पद्म भूषण सम्मान

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद (सार्वजनिक मामले), पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेब भट्टाचार्य, रम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के साइरस पूनावाला, भारत बायोटेक के कृष्णा इल्ला, माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला, गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई समेत 17 हस्तियों को पद्म भूषण से सम्मानित किया जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है भारतीय संविधान, जानिए इसके रोचक तथ्य और इतिहास की बातें 

यहां देखें पूरी लिस्ट:- 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।