JNU हिंसा पर बोले कन्हैंया कुमार, संविधान को नष्ट करना चाहती है सरकार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 8, 2020   09:29
JNU हिंसा पर बोले कन्हैंया कुमार, संविधान को नष्ट करना चाहती है सरकार

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी एवं पूर्व छात्र नेता कन्हैया कुमार सहित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के कई पूर्व छात्रों ने विश्वविद्यालय में हिंसा को लेकर केन्द्र पर हमला बोला और आरोप लगाया कि सरकार संविधान को ‘‘नष्ट’’ करने का प्रयास कर रही है।

नयी दिल्ली। माकपा महासचिव सीताराम येचुरी एवं पूर्व छात्र नेता कन्हैया कुमार सहित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के कई पूर्व छात्रों ने विश्वविद्यालय में हिंसा को लेकर केन्द्र पर हमला बोला और आरोप लगाया कि सरकार संविधान को ‘‘नष्ट’’ करने का प्रयास कर रही है। विश्वविद्यालय के पूर्व छात्रों की बैठक को संबोधित करते हुए येचुरी ने जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कराये जाने पर सवाल उठाया और आरोप लगाया कि यह सोच समझ कर उठाया गया कदम है।

इसे भी पढ़ें: JNU पहुंचीं दीपिका पादुकोण, कन्हैया कुमार के साथ छात्रों के प्रदर्शन का किया समर्थन

माकपा महासचिव ने कहा, ‘‘हम संविधान की रक्षा कर रहे हैं और यदि कोई राष्ट्रद्रोही है तो वह सरकार है जो संविधान को नष्ट करने का प्रयास कर रही है।’’  भाकपा नेता एवं जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा, ‘‘जेएनयू सदैव उन मुद्दों की चर्चा करता है जिनकी खबर भी नहीं बनती। सरकार ने गलती कर दी है। उन्होंने एक बुद्धिमान और मेहनती शत्रु को चुन लिया है।’’ उन्होंने कहा कि जब उन्हें ‘‘टुकड़े टुकड़े गैंग’’ का नेता कहा जाता है तो वह गौरवान्वित महसूस करते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।