अपनी शादी टालकर कोरोना मरीजों की निस्वार्थ सेवा में लगीं हैं डॉ हर्षिता द्विवेदी

अपनी शादी टालकर कोरोना मरीजों की निस्वार्थ सेवा में लगीं हैं डॉ हर्षिता द्विवेदी

बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में कोविड वार्ड में तैनात अपनी ड्यूटी देने वाली गोरखपुर की डॉक्टर हर्षिता द्विवेदी ने अपनी शादी टालकर कोविड संक्रमितों की सेवा करने का निर्णय लिया था

गोरखपुर।  बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में कोविड वार्ड में तैनात अपनी ड्यूटी देने वाली गोरखपुर की डॉक्टर हर्षिता द्विवेदी ने अपनी शादी टालकर  कोविड संक्रमितों की सेवा करने का निर्णय लिया था। जिसके फलस्वरूप उन्हें गोरखपुर ही नहीं बल्कि पूरे पूर्वांचल और प्रदेश के साथ-साथ देश भर में बधाइयों का तांता लग गया था लेकिन डॉ हर्षिता द्विवेदी ने कहा कि इस तरह के समझौते तो सभी डॉक्टरों ने किया है लेकिन उनके द्वारा किए गए कार्य पर प्रशंसा मिल रही है वह गर्व की बात है साथ ही में उन्होंने बताया कि कोविड वार्ड में ड्यूटी करते वक्त पीपीई किट पहनना और ड्यूटी करना कितना मुश्किल होता है ।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश के पहले हाईटेक थाने गोरखनाथ का एसएसपी ने रखी आधारशिला

उन्होंने पीपीई किट में ड्यूटी करते हुए अपनी फोटो प्रभासाक्षी न्यूज़ नेटवर्क की टीम से साझा करते हुए कहा कि समस्या पीपीई किट पहनने में नहीं बल्कि पीपीई किट को उतारते समय होता है उन्होंने बताया कि इस किट को  बड़ी सावधानी पूर्वक उतारना पड़ता है जिससे वह और आसपास के लोग संक्रमित ना हों उन्होंने कहा कि कोविड वार्ड में ड्यूटी करना इतना आसान नहीं जितना आम जनमानस को लगता है। 

इसे भी पढ़ें: नारद मामला: अदालत ने मामला स्थगित करने के सीबीआई के अनुरोध को अस्वीकार किया

पीपीई किट में काम करना और 8 घंटे लगातार अपनी ड्यूटी देना तथा बिना खाये पिये कार्य करना आम बात नहीं है उन्होंने एक और फोटो साझा करते हुए कहा कि वह उसमें एक गर्भवती महिला की सेवा कार्य में लगी हुई हैं जो कि कोरोना संक्रमित भी है उन्होंने कहा कि यह चैलेंज उन्होंने स्वीकार किया है कि उस महिला की देखभाल तथा उसके होने वाले बच्चे की देखभाल वे स्वयं करेंगी |





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।