चिनाल भाषा का संरक्षण करेगी हिमाचल प्रदेश सरकार

himachal-pradesh-government-will-protect-chanal-language
भारद्वाज ने यहां गैटी थिएटर के भाषा, कला एवं संस्कृति विभाग द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘अन्य भाषाओं की तरह चिनाल भाषा का उद्गम भी संस्कृत है।’

शिमला। हिमाचल प्रदेश सरकार राज्य के लाहौल एवं स्पीति जिला के लाहौल इलाके में बोली जाने वाली चिनाल भाषा का संरक्षण करेगी। राज्य के शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने रविवार को इसकी जानकारी दी।

इसे भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश बस हादसा: स्थिति का जायजा लेने कुल्लू के अस्पताल पहुंचे मुख्यमंत्री

भारद्वाज ने यहां गैटी थिएटर के भाषा, कला एवं संस्कृति विभाग द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘अन्य भाषाओं की तरह चिनाल भाषा का उद्गम भी संस्कृत है।’’ उन्होंने कहा कि लाहौल में बोली जाने वाली चिनाल भाषा का संरक्षण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने संस्कृत को दूसरी भाषा का दर्जा दिया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़