हिमंत बिस्वा सरमा ने किया कटाक्ष, कांग्रेस को 'मोदी फोबिया' है, राष्ट्रहित के हर फैसले का कर रही विरोध

Himanta Biswa Sarma
ANI
अभिनय आकाश । Jul 03, 2022 3:26PM
हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि गृह मंत्री ने विपक्ष के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि आज विपक्ष बंटा हुआ है। कांग्रेस सदस्य पार्टी में लोकतंत्र स्थापित करने के लिए लड़ रहे हैं, लेकिन डर के मारे पार्टी अध्यक्ष का चुनाव नहीं कर रहे हैं। कांग्रेस को 'मोदी फोबिया' है।

बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक पर असम सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह जी ने अपने भाषण में गुजरात दंगे पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को ऐतिहासिक निर्णय बताते हुए कहा कि पीएम पर जो भी आरोप लगाए गए थे उसे SC ने पूरी तरह से झूठा करार दिया और इसे राजनीति से प्रेरित बताया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासन काल में 2 राष्ट्रपति चुनाव का अवसर मिला। भाजपा ने एक बार दलित को और दूसरी बार एक महिला आदिवासी को चुना जो जमीन से जुड़ी रहीं। मोदी जी के नेतृत्व में बाहरी और आंतरिक सुरक्षा सुदृढ़ हुई है। 

इसे भी पढ़ें: Khalsa Aid के संस्थापक रवि सिंह का ट्विटर अकाउंट भारत में बैन, फेसबुक पोस्ट के जरिये बीजेपी पर साधा निशाना

हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि गृह मंत्री ने विपक्ष के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि आज विपक्ष बंटा हुआ है। कांग्रेस सदस्य पार्टी में लोकतंत्र स्थापित करने के लिए लड़ रहे हैं, लेकिन डर के मारे पार्टी अध्यक्ष का चुनाव नहीं कर रहे हैं। कांग्रेस को 'मोदी फोबिया' है। वे देशहित में लिए गए हर फैसले का विरोध कर रहे हैं। हमारी राष्ट्रीय कार्यकारी समिति की बैठक के पहले दिन, हमने आर्थिक संकल्प पर चर्चा की। आज दूसरे दिन राजनीतिक संकल्प पर चर्चा की बारी थी। एचएम अमित शाह ने प्रस्ताव पेश किया और इसे सर्वसम्मति से पारित किया गया। 

इसे भी पढ़ें: केसीआर की खुली चुनौती, बीजेपी महाराष्ट्र जैसी कोशिश तेलंगाना में करेगी, मैं मोदी सरकार गिरा दूंगा

हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि एचएम ने विपक्ष के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि आज विपक्ष बंटा हुआ है। कांग्रेस सदस्य पार्टी में लोकतंत्र स्थापित करने के लिए लड़ रहे हैं, लेकिन डर के मारे पार्टी अध्यक्ष का चुनाव नहीं कर रहे हैं। कांग्रेस को 'मोदी फोबिया' है। वे देशहित में लिए गए हर फैसले का विरोध कर रहे हैं। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़