प्रभासाक्षी के विचार संगम में बोले IIMC महानिदेशक संजय द्विवेदी- 'डिजिटल मीडिया का सूरज कभी नहीं डूब सकता'!

प्रभासाक्षी के विचार संगम में बोले IIMC महानिदेशक संजय द्विवेदी- 'डिजिटल मीडिया का सूरज कभी नहीं डूब सकता'!

संजय द्विवेदी ने प्रभासाक्षी के 20 वर्ष होने पर शुभकामनाएं दी और डिजिटल मीडिया की विश्वसनीयता पर बात करते हुए संजय ने कहा कि, हड़बड़ी में गड़बड़ी होती है और यहीं डिजिटल मीडिया करता आ रहा है।

प्रभासाक्षी के 20 वर्ष होने के अवसर पर विचार संगम का आयोजन किया गया। सत्र में डिजिटल मीडिया की विश्वसनीयता पर ही सवाल क्यों पर चर्चा हुई। इस चर्चा में भाग लेते हुए आईआईएमसी के महानिदेशक श्री संजय द्विवेदी शामिल हुए। सबसे पहले संजय द्विवेदी ने प्रभासाक्षी के 20 वर्ष होने पर शुभकामनाएं दी और डिजिटल मीडिया की विश्वसनीयता पर बात करते हुए संजय ने कहा कि, हड़बड़ी में गड़बड़ी होती है और यहीं डिजिटल मीडिया करता आ रहा है। 

इसे भी पढ़ें: प्रभासाक्षी के विचार संगम में बोले दिलीप घोष, सोशल मीडिया का दुरुपयोग ना होकर सदुपयोग होना चाहिए

डिजिटल मीडिया को हम दोष नहीं दे सकते है। डिजिटल मीडिया का सूरज कभी नहीं डूब सकता है। खबरों की सच्चाई और विश्वसनीयता पर बात करते हुए संजय द्विवेदी ने कहा कि प्रभासाक्षी ने कभी भी अपने किसी भी खबरों के लिए माफी नहीं मांगी है। प्रभासाक्षी हमेशा से सत्य के साथ खड़ा रहा है। संजय ने कहा कि, आशा है कि कई और मीडिया चैनल सच्चाई और विश्वसनीयता के साथ डिजिटल मीडिया को महत्व देंगें।संजय द्विवेदी ने डिजिटल और सोशल मीडिया को अलग-अलग प्लेटफॉर्म बताया और कहा कि इन दोनों प्लेटफॉर्म को अलग रखना चाहिए। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।