• मुश्किल की घड़ी में सरकार ने हर तरह से रखा गरीबों की सुरक्षा का ध्यान’ लाभार्थियों ने संकट में मदद के लिए प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री का जताया आभार

मंडी के सराज क्षेत्र की ग्राम पंचायत शरण के रईधार गांव की चूड़ामणि प्रदेश के उन पांच लाभार्थियों में शामिल रहीं जिनसे केंद्रीय खाद्य आपूर्ति मंत्री पीयूष गोयल और मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने शिमला में आयोजित राज्य स्तरीय प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना संवाद कार्यक्रम के दौरान वर्चुअल माध्यम से बातचीत की।

मंडी। ‘मुश्किल की घड़ी में सरकार ने हर तरह से गरीबों की सुरक्षा का ध्यान रखा है...राशन हों, दवाईयां हों, हमारे घर पहुंचा कर बड़ी मदद की है।’ प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की लाभार्थी चूड़ामणि ने शनिवार को लाभार्थी संवाद कार्यक्रम में यह बात कही। उन्होंने संकट में मदद के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर का आभार जताया।

 

इसे भी पढ़ें: केन्द्रीय मंत्री ने हिमाचल को निवेश के लिए उत्कृष्ट केन्द्र विकसित करने पर राज्य सरकार के प्रयासों को सराहा

 

मंडी के सराज क्षेत्र की ग्राम पंचायत शरण के रईधार गांव की चूड़ामणि प्रदेश के उन पांच लाभार्थियों में शामिल रहीं जिनसे केंद्रीय खाद्य आपूर्ति मंत्री पीयूष गोयल और मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने शिमला में आयोजित राज्य स्तरीय प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना संवाद कार्यक्रम के दौरान वर्चुअल माध्यम से बातचीत की। सीधे संवाद में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल का हिमाचल और मंडी जिलावासियों के प्रति आत्मीयता का भाव स्पष्ट झलक रहा था। उन्होंने कहा कि उनकी दादी हिमाचल से ही थीं इसलिए उनका प्रदेश से विशेष नाता और लगाव है।

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना केन्द्र सरकार द्वारा शुरू की गई एक महत्वाकांक्षी योजना

41 वर्षीय चूड़ामणि ने बताया कि उनके परिवार में पति, ससुर और दो बच्चों समेत वे कुल पांच सदस्य हैं । छुटपुट काम से घर का खर्चा निकलता है। कोरोना काल में भोजन का इंतजाम भी उनके लिए एक बड़ी चुनौती सरीखा था। ऐसे में सरकार की ओर से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत लगातार निशुल्क खाद्य सामग्री मिलने से सारी चिंताएं जाती रहीं।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के राशन की समय पर उपलब्धता को लेकर पूछने के अलावा नकदी फसलों की खेतीबाड़ी और अन्य सरकारी योजनाओं के लाभ को लेकर पूछे सवालों पर चूड़ामणि नेे बताया कि प्रदेश में राशन नियमित और समय पर मिलने की मजबूत व्यवस्था से गरीबों को बड़ा लाभ हुआ है। उन्होंने बताया कि उनके परिवार को हर महीने 10 किलो चावल और 15 किलो आटा मिल रहा है।

चूड़ामणि ने बताया कि सराज क्षेत्र में किसान पारंपरिक खेती के साथ मटर, गोभी, आलू जैसी नकदी फसलों की खेती कर अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं। इस पर पर मंत्री ने नकदी फसलों की खेती को किसानों के लिए मुनाफे का सौदा बताया।

चूड़ामणि ने कहा कि प्रदेश में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से किसानों को बड़ी सुविधा हुई है। इससे किसानों को अपने उत्पाद बाजार पहुंचाने में बड़ी आसानी हुई है।

जब सीएम ने पूछा ‘मैं आपका विधायक हूं, मुझे भी याद करते हैं ना’

संवाद के दौरान मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने जब मजाक में चूड़ामणि से कहा...मैं आपका विधायक हूं, मुझे भी याद करते हैं ना आप लोग.मुख्यमंत्री के इस सवाल पर कोई भी मुस्कुराए बिना नहीं रह सका। वहीं चूड़ामणि ने तपाक से जवाब दिया ‘सीएम साब, आप तो हमारे घर के आदमी हैं, आप हमेशा याद रहते हैं। इस पर केंद्रीय मंत्री ने मजाकिया लहजे में आगे पूछा चूड़ामणि जी, सीएम साब से लोगों की कोई शिकायत हो तो मुझे बता दें, इससे एक बार फिर माहौल में ठहाके तैर गए।चूड़ामणि बोलीं, कोई शिकायत नहीं है सर, सीएम साब ने अपने अच्छे काम से हम सबके जीवन में खुशहाली लाई है। सेब की फसल को लेकर पूछे सवाल पर चूड़ामणि ने बताया कि उनकी फसल की अच्छी बिकवाली हुई।

जि़लाभर में सीधा प्रसारण

संवाद कार्यक्रम का जि़लाभर में सीधा प्रसारण दिखाया गया। इस दौरान सभी विधायक अपने अपने क्षेत्र में मौजूद रहे। विधायकों ने कार्यक्रम में लाभार्थियों को राशन किट भी वितरित कीं। वहीं संवाद कार्यक्रम के लिए चूड़ामणि उपायुक्त कार्यालय के एनआईसी कक्ष में मौजूद रहीं, जहीं अतिरिक्त उपायुक्त जतिन लाल और जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रक लक्ष्मण कनेट भी उपस्थित रहे।

करीब साढ़े 4 लाख लाभान्वित

जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रक लक्ष्मण कनेट ने बताया कि अप्रैल 2020 में आरंभ की गई प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना से मंडी जिला के 1 लाख 20 हजार 878 राशन कार्ड धारक परिवारों के 4 लाख 47 हजार 713 लोग लाभान्वित हुए हैं। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम में कवर इन परिवारों को हर महीने प्रति व्यक्ति 2 किलो चावल और 3 किलो गेहूं निशुल्क उपलब्ध करवाई जा रही है।