एमपी के रीवा जिले में कव्वाल ने हिंदुस्तान पर दिया विवादित बयान, बीजेपी विधायक ने दी चेतावनी

एमपी के रीवा जिले में कव्वाल ने हिंदुस्तान पर दिया विवादित बयान,  बीजेपी विधायक ने दी चेतावनी

मंच पर बैठे कव्वाल ने कहा कि ‘मोदी जी कहते हैं हम हैं, योगी जी कहते हैं हम हैं, अमित शाह कहते हैं हम हैं मगर हैं कौन? कौन है? अगर गरीब नवाज चाह लें ना तो हिंदुस्तान पता ही नहीं चलेगा कहां पर बसा था और कहां पर था।

भोपाल। मध्य प्रदेश के रीवा जिले में उर्स के मौके पर एक कव्वाल ने हिंदुस्तान को गायब कर देने की बात कह डाली। कव्वाल के विवादित बयान पर अब बीजेपी आक्रामक हो गई है। बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा हमला बोला है।

विधायक ने हमला करते हुए कहा कि वो मुगालते में है। वो कव्वाल है और कव्वाली कर पेट पाले। कव्वाल हो खुदा बनने की कोशिश मत करो और खुद की गृहबान में झाक कर देखो। याद रखना भारत को कोई छेड़ता है, तो वो उसको छोड़ता नहीं है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि आयोजक और कव्वालियों से कहूंगा गरिमा में रहो छेड़ो मत।

इसे भी पढ़ें:पूर्व सीएम कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर साधा निशाना, कहा- युवा पीढ़ी व्यापार करने के लिए हो रही है परेशान 

आपको बता दें कि रीवा जिले के मनगवां इलाके में इस्लामिक पर्व के मौके पर एक कव्वाल ने हिंदुस्तान को गायब कर देने की बात कही थी। मनगवां के MLA डॉ. पंचुलाल प्रजापति चीफ गेस्ट बनकर स्टेज पर बैठे थे। जिस कव्वाल नवाज शरीफ ने हिंदुस्तान को गायब करने की बात कही है उसका एक वीडियो सामने आया है।

जहां मंच पर बैठे कव्वाल ने कहा कि ‘मोदी जी कहते हैं हम हैं, योगी जी कहते हैं हम हैं, अमित शाह कहते हैं हम हैं मगर हैं कौन? कौन है? अगर गरीब नवाज चाह लें ना तो हिंदुस्तान पता ही नहीं चलेगा कहां पर बसा था और कहां पर था। ये वलियों का वो मक़ाम है कि अगर नज़र फेर लेते हैं तो पूरे शहर वीरान हो जाते हैं। हिस्ट्री पढ़ लो तो पता चल जाएगा।

इसे भी पढ़ें:रीवा सर्किट हॉउस में बाबा ने किया नाबालिक के साथ दुष्कर्म, पुलिस जुटी जांच में 

वहीं हिन्दू नव वर्ष पर आयोजित होने वाले अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का विधायक रामेश्वर शर्मा ने निरीक्षण किया है। 2 अप्रैल को अटल पथ पर इसका आयोजन होगा। रामेश्वर शर्मा ने कार्यक्रम को लेकर अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए है। जिससे हिन्दू नव वर्ष पर सफल आयोजन हो सके।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।