कुरकुरे की फैक्टरी में कर्मचारी के मल द्वार में साथी ने कंप्रेशन से भर दी हवा, आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

कुरकुरे की फैक्टरी में कर्मचारी के मल द्वार में साथी ने कंप्रेशन से भर दी हवा, आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

उज्जैन शहर से करीब 15 किमी दूर आगर रोड स्थित ग्राम बांदका में कुरकुरे की फैक्ट्री है। यहा उज्जैनिया का कमल पिता लक्ष्मणसिंह राजपूत और पानबिहार का भरत चौहान काम करते है। 16 फरवरी की शाम भरत ने काम के दौरान कंप्रेशन से कमल के मल द्वार में हवा भर दी।

भोपाल। मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में आगर रोड स्थित एक कुरकरे फैक्ट्री में अजीब घटना सामने आई है। यहां एक युवक ने साथी कर्मचारी के मल द्वार में कंप्रेशन से हवा भर दी। जिससे उसकी पेट की आत फटने से जान पर बन आई। 11 दिन पहले हुई घटना का पता चलते ही पुलिस ने केस दर्ज कर रविवार को आरोपी को पकड़कर जेल भेज दिया।

दरअसल उज्जैन शहर से करीब 15 किमी दूर आगर रोड स्थित ग्राम बांदका में कुरकुरे की फैक्ट्री है। यहा उज्जैनिया का कमल पिता लक्ष्मणसिंह राजपूत और पानबिहार का भरत चौहान काम करते है। 16 फरवरी की शाम भरत ने काम के दौरान कंप्रेशन से कमल के मल द्वार में हवा भर दी,जिससे उसकी हालत खराब हो गई।

इसे भी पढ़ें:ग्वालियर में दलित कार्यकर्ता को बेहरहमी से पीटा, जबरन पिलाया पेशाब 

घर पहुंचने पर उसकी स्थिति देख परिजनों ने निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां जांच में पेट की आंत फटने का पता चलने पर ऑपरेशन करना पड़ा। बावजूद उसकी हालत में सुधार नहीं हुआ। इस मामले में अस्पताल प्रशासन ने समीप के थाने चिमनगंज को सूचना दी। जिससे पता चलने पर शनिवार को घट्टिया पुलिस ने भरत के खिलाफ जानलेवा हमले का केस दर्ज कर खोजबीन की और रविवार को उसे गिर तार कर लिया।

आपको बता दें कि फैक्ट्री मैनेजर रवि हिरवे ने कहा कि कुरकुरे को लंबे समय तक पाऊच में सुरक्षित रखने के लिए नाईट्रोजन गैस भरी जाती है। कंप्रेशर का उपयोग इसी में उपयोग होता है। घटना वाले दिन संभवत: काम के बाद सफाई के दौरान घटना हुई है। दोनों कर्मचारियों के नहीं आने पर तीन दिन बाद उन्हें मामले का पता चला।

इसे भी पढ़ें:महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर उज्जैन में बनेगा विश्व रिकॉर्ड, 21 लाख दीयों से रोशन होगा शहर 

लेकिन खास बात यह है कि घटना का कारण अब तक न फैक्ट्री मैनेजर के अनुसार संभवत: मजाक के दौरान घटना हुई है। पान बिहार चौकी प्रभारी राहुल चौहान ने भी दोनों के बीच विवाद की जानकारी से इंकार किया है। वहीं  टीआई विक्रमसिंह चौहान ने कहां कि आरोपी को कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।