विधायकों की परेड में उद्धव ठाकरे ने कहा, अब हम बताएंगे शिवसेना क्या चीज है

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 25, 2019   20:24
विधायकों की परेड में उद्धव ठाकरे ने कहा, अब हम बताएंगे शिवसेना क्या चीज है

इस कदम की घोषणा तीनों दलों के नेताओं द्वारा अपने पास सरकार गठन के लिए आवश्यक संख्या होने का दावा करने के लिए महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को पत्र सौंपने के कुछ घंटे बाद की गई।

मुंबई। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने सोमवार को भाजपा से कहा कि वह महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए शिवसेना-राकांपा कांग्रेस गठबंधन के लिए ‘‘रास्ता खाली’’ करे। वह यहां होटल हयात में तीनों दलों के विधायकों की परेड में बोल रहे थे।

ठाकरे ने कहा कि हमारी लड़ाई सिर्फ सत्ता के लिए नहीं है, हमारी लड़ाई 'सत्यमेव जयते' के लिए है। जितना आप हमें तोड़ने की कोशिश करेंगे, उतना ही हम एकजुट होंगे। उन्होंने कहा कि हमारी संख्या इतनी है कि हम एक फोटो में नहीं आ रहे हैं। अब हम बताएंगे कि शिवसेना क्या चीज है।  इस दौरान राकांपा प्रमुख शरद पवार भी मौजूद थे। पवार ने कहा कि भाजपा ने सत्ता हथियाने के लिए उन राज्यों में भी सत्ता का दुरुपयोग किया जहां मतदाताओं ने उसे जनादेश नहीं दिया था। तीनों दलों के ‘महा विकास अघाडी’ ने अपनी शक्ति दिखाने के लिए मुंबई के पांच सितारा होटल में सोमवार की शाम 162 विधायकों की परेड कराने का निर्णय किया।

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र ACB ने सिंचाई घोटाले के मामले बंद किए, कहा- ये मामले अजित पवार से जुड़े नहीं

इस कदम की घोषणा तीनों दलों के नेताओं द्वारा अपने पास सरकार गठन के लिए आवश्यक संख्या होने का दावा करने के लिए महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को पत्र सौंपने के कुछ घंटे बाद की गई। परेड में कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण भी मौजूद थे जिन्होंने कहा, ‘‘हम महज 162 नहीं, 162 से अधिक हैं। हम सब सरकार का हिस्सा होंगे। मैं सोनिया गांधी का धन्यवाद व्यक्त करता हूं जिन्होंने भाजपा को रोकने के लिए इस गठबंधन की मंजूरी दी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘राज्यपाल को हमें सरकार गठन के लिए आमंत्रित करना चाहिए।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।