आरक्षण की लड़ाई के साथ सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों को न बेचने की लड़ाई हो तेज: कांग्रेस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 28, 2022   20:50
आरक्षण की लड़ाई के साथ सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों को न बेचने की लड़ाई हो तेज: कांग्रेस

केंद्र की मोदी सरकार पर यह हमला प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने बोला है। उन्होंने कहा कि संविधान ने हमें अधिकार दिए हैं लेकिन केंद्र सरकार संविधान का पालन न करते हुए ओबीसी समाज को निशाना बनाने का काम कर रही है ।

अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) की विभिन्न मांगें केंद्र सरकार के पास लंबित हैं लेकिन केंद्र की भाजपा सरकार जानबूझकर उनकी अनदेखी कर रही है और ओबीसी समुदाय के साथ अन्याय कर रही है। केंद्र की मोदी सरकार पर यह हमला प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने बोला है। उन्होंने कहा कि संविधान ने हमें अधिकार दिए हैं लेकिन केंद्र सरकार संविधान का पालन न करते हुए ओबीसी समाज को निशाना बनाने का काम कर रही है । पटोले ने कहा कि अब समय आ गया है कि पूरा ओबीसी समाज केंद्र के अन्याय के खिलाफ एकजुट होकर हल्ला बोल शुरू करे।

पटोले, शेगांव में आयोजित ओबीसी सामाजिक अधिकार सम्मेलन में बोल रहे थे। बैठक में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, महिला एवं बाल कल्याण मंत्री यशोमती ठाकुर, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव और सह प्रभारी आशीष दुआ, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव और पंजाब के सह प्रभारी हर्षवर्धन सपकाल, राष्ट्रीय ओबीसी फेडरेशन के डॉ. बबनराव तायवाड़े, विधायक अमित झनक, राजेश एकाडे, प्रदेश उपाध्यक्ष संजय राठौर, प्रदेश महासचिव देवानंद पवार, कांग्रेस जिलाध्यक्ष व पूर्व विधायक राहुल बोंड्रे, पूर्व विधायक दिलीप सानंद, प्रदेश महासचिव शाम उमालकर, स्वाति वाकेकर, रवि महाले, मंगेश भारसाखले समेत कई नेता मौजूद थे।

इस मौके पर आगे बोलते हुए नाना पटोले ने कहा कि आज की बैठक केंद्र सरकार को आगाह करने के लिए है. ओबीसी का उनका अधिकार मिलना चाहिए और हम उन्हें न्याय दिलाने के लिए आगे भी संघर्ष करेंगे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के पास ओबीसी आरक्षण के लिए आवश्यक जो डेटा उपलब्ध है वह 98 प्रतिशत सही है लेकिन वे इसे महाराष्ट्र सरकार को नहीं दे रहे हैं। यह सब ओबीसी आरक्षण को रोकने के लिए जानबूझकर किया जा रहा है । पटोले ने कहा कि महाराष्ट्र एक प्रगतिशील राज्य है, जहां महात्मा फुले और सावित्रीबाई ने देश को मार्गदर्शन देने का काम किया लेकिन महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उनका अपमान करने की हिम्मत की है. महाराष्ट्र इस अपमान को बर्दाश्त नहीं करेगा। मैंने हमेशा ओबीसी समुदाय के लिए लड़ाई लड़ी है और उनके अधिकारों के लिए आगे भी लड़ता रहूंगा। पटोले ने कहा कि वह ओबीसी समुदाय की समस्याओं को लेकर वे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुलाकात करेंगे और समाधान निकालने का प्रयास करेंगे।

इस अवसर पर बोलते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, कि हम ओबीसी समुदाय के लिए आरक्षण के लिए लड़ रहे हैं लेकिन केंद्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार आरक्षण के खिलाफ है। यह रेलवे, एयरपोर्ट, एयर इंडिया जैसी कंपनियों को बेच रही है। उन्होंने कहा कि आरक्षण का लाभ कैसे मिलेगा अगर इन सरकारी कंपनियों को निजी हाथों में बेच दिया जाएगा. बघेल ने कहा कि भाजपा सरकार इन सरकारी उपक्रम को इसलिए बेच रही है ताकि जरूरतमंद लोगों को आरक्षण का लाभ न मिले। यह आरक्षण को खत्म करने के लिए एक बड़ी साजिश रची जा रही है, इसलिए आरक्षण की लड़ाई के साथ-साथ सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों की बिक्री के खिलाफ भी लड़ाई तेज करनी चाहिए। जब सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियां बिक जाती हैं तो आरक्षण भी खत्म हो जाता है। बघेल ने कहा कि यह लोगों को कमजोर करने की चाल है। उन्होंने कहा कि राम नाम जपना, पराया माल अपना भाजपा का आदर्श वाक्य है। कांग्रेस हमेशा एससी, एसटी, ओबीसी समुदाय के साथ मजबूती से खड़ी रही है और आपके साथ रहेगी। इनके अलावा महिला एवं बाल कल्याण मंत्री यशोमती ठाकुर, राष्ट्रीय महासचिव आशीष दुआ और राष्ट्रीय ओबीसी फेडरेशन के डॉ. बबनराव तायवाड़े ने भी सभा को संबोधित किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।