किसी भी एक देश के लिए अकेले समुद्री सुरक्षा सुनिश्चित करना संभव नहीं: नौसेना प्रमुख

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 28, 2022   08:29
किसी भी एक देश के लिए अकेले समुद्री सुरक्षा सुनिश्चित करना संभव नहीं: नौसेना प्रमुख
ani

नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने बुधवार को कहा कि मौजूदा संदर्भ में किसी एक देश के लिए समुद्री सुरक्षा सुनिश्चित करना लगभग असंभव है और समान विचारधारा वाले देशों को उभरती चुनौतियों से निपटने के लिए हाथ मिलाना चाहिए।

नयी दिल्ली। नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने बुधवार को कहा कि मौजूदा संदर्भ में किसी एक देश के लिए समुद्री सुरक्षा सुनिश्चित करना लगभग असंभव है और समान विचारधारा वाले देशों को उभरती चुनौतियों से निपटने के लिए हाथ मिलाना चाहिए। चुनौतियों से निपटने के लिए सहयोगात्मक दृष्टिकोण की वकालत करते हुए उन्होंने कहा, हम एक संघर्षपूर्ण वर्तमान में हैं और अनिश्चित भविष्य की ओर बढ़ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: सिंगापुर में बार परीक्षा में नकल करने के आरोपियों मेंतीन भारतवंशी शामिल

नौसेना प्रमुख रायसीना डायलॉग में एक संवाद सत्र को संबोधित कर रहे थे, जिसमें अमेरिका की हिंद-प्रशांत कमान के कमांडर एडमिरल जॉन एक्विलिनो के अलावा जापान और ऑस्ट्रेलिया के वरिष्ठ सैन्य अधिकारी भी मौजूद रहे।

इसे भी पढ़ें: श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे सर्वदलीय सरकार के गठन पर चर्चा के लिये तैयार

इस दौरान एडमिरल एक्विलिनो ने रूस और चीन के बीच प्रगाढ़ मित्रता का हवाला देते हुए कहा कि यह बहुत चिंता का विषय है क्योंकि इसके सुरक्षा निहितार्थ हो सकते हैं। अमेरिकी कमांडर ने कहा कि यूक्रेन के खिलाफ रूसी हमले के मद्देनजर उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) अपनी शक्ति को बढ़ा रहा है। साथ ही उन्होंने सुझाव दिया कि हिंद-प्रशांत के लिए इसी तरह के मॉडल का अनुसरण किया जा सकता है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।