आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई से हिचकना आतंकवाद को बढ़ावा देना है: मोदी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 18, 2019   15:26
आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई से हिचकना आतंकवाद को बढ़ावा देना है: मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति मैक्री के साथ उनकी यह पांचवी मुलाकात दोनों देशों के बीच आपसी संबंधों की तेज़ रफ्तार और बढ़ते महत्व को दर्शाती है।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को कहा कि आतंकवाद वैश्विक शांति और स्थिरता के लिए बहुत गंभीर खतरा है और आतंकवादियों और उनके मानवता विरोधी समर्थकों के खिलाफ कार्रवाई से हिचकना भी आतंकवाद को बढ़ावा देना है। भारत की यात्रा पर आए अर्जेन्टीना के राष्ट्रपति मॉरिसियो मैक्री के साथ चर्चा के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘ पुलवामा में हुआ क्रूर आतंकवादी हमला यह दिखाता है कि अब बातों का समय निकल चुका है। अब सारी दुनिया को आतंकवाद और उसके समर्थकों के विरुद्ध एकजुट होकर ठोस कदम उठाने की आवश्यकता है।’’ उन्होंने कहा कि आतंकवादियों और उनके मानवता विरोधी समर्थकों के खिलाफ कार्रवाई से हिचकना भी आतंकवाद को बढ़ावा देना है। 

मोदी ने कहा कि वह और राष्ट्रपति मैक्री इस बात पर सहमत हैं कि आतंकवाद वैश्विक शांति और स्थिरता के लिए बहुत गंभीर खतरा है। दोनों देशों ने सूचना प्रौद्योगिकी, संचार प्रौद्योगिकी, परमाणु ऊर्जा और कृषि समेत अन्य क्षेत्रों में सहयोग को गहरा बनाने के लिये 10 सहमति पत्र को अंतिम रूप भी दिया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति मैक्री के साथ उनकी यह पांचवी मुलाकात दोनों देशों के बीच आपसी संबंधों की तेज़ रफ्तार और बढ़ते महत्व को दर्शाती है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों ने यह साबित कर दिया है कि उनके बीच 15,000 किलोमीटर की दूरी एक संख्या मात्र है। मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति मैक्री की यह यात्रा विशेष वर्ष में हो रही है। दोनों देशों के बीच कूटनीतिक संबंधों की स्थापना का यह 70वां वर्ष है। 

यह भी पढ़ें: राष्ट्रपति ने सांस्कृतिक सद्भाव को बढ़ावा देने के लिये टैगोर पुरस्कार प्रदान किया 

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘दोनों देशों ने अपने साझा मूल्यों और हितों को देखते हुए और शांति, स्थिरता, आर्थिक प्रगति तथा समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए, अपने संबंधों को सामरिक सहयोग के स्तर का बनाने का निर्णय लिया है। मोदी ने कहा कि अंतरिक्ष और परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण उपयोग के क्षेत्र में हमारा सहयोग लगातार बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि रक्षा सहयोग के संबंध में आज जिस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हुए हैं, वह रक्षा क्षेत्र में हमारे सहयोग को एक नया स्वरुप देगा। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘भारत और अर्जेंटीना कई मायनों में एक दूसरे के पूरक हैं। हमारा यह प्रयास है कि आपसी हित के लिए इनका पूरा लाभ उठाया जाए। ’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।