जयराम रमेश बोले- भाजपा और टीआरएस एक ही सिक्के के दो पहलू हैं

Jairam Ramesh
ANI
रमेश ने राव पर निशाना साधते हुए कहा कि सुल्तान और निजाम में कोई अंतर नहीं है। उन्होंने कहा कि इसलिए, तेलंगाना में टीआरएस के लिए संदेश है कि यह बीआरएस का समय नहीं, बल्कि वीआरएस लेने का है।
हैदराबाद। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने मंगलवार को आरोप लगाया कि तेलंगाना में सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) और केंद्र में सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) एक ही सिक्के के दो पहलू हैं, एक दिल्ली में सुल्तान जबकि दूसरा हैदराबाद में निजाम है। पूर्व केंद्रीय मंत्री रमेश ने यहां पत्रकारों से कहा कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के प्रस्तावित राष्ट्रीय संगठन भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) के वीआरएस (स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना) बनने का समय आ गया है। उन्होंने कहा, ‘‘यह (राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा) न केवल भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के लिए, बल्कि टीआरएस के लिए भी एक संदेश है, जिसका चेहरा भाजपा जैसा ही है। भाजपा और टीआरएस एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। आपके पास अगर दिल्ली में सुल्तान है, तो हैदराबाद में निजाम है।’’ 

इसे भी पढ़ें: PK का दावा, नीतीश ने दिया था साथ में काम करने का ऑफर, मैंने ठुकराया, जदयू ने लगाया था यह आरोप

रमेश ने राव पर निशाना साधते हुए कहा कि सुल्तान और निजाम में कोई अंतर नहीं है। उन्होंने कहा कि इसलिए, तेलंगाना में टीआरएस के लिए संदेश है कि यह बीआरएस का समय नहीं, बल्कि वीआरएस लेने का है। उन्होंने कहा कि तीन चीजें हैं जिनसे आज पूरे भारत में लोग चिंतित हैं, महंगाई, बेरोजगारी, जीएसटी...., एक या दो बड़ी कंपनियों का एकाधिकार और बढ़ती आर्थिक असमानता जैसे मुद्दे हैं। उन्होंने कहा कि दूसरी चिंता सामाजिक ध्रुवीकरण है क्योंकि समाज को कथित तौर पर धर्म, जाति, भाषा, भोजन और पोशाक के आधार पर विभाजित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि तीसरी चिंता केंद्रीकरण को लेकर राजनीतिक है। रमेश ने कहा कि चल रही भारत जोड़ो यात्रा मन की बात यात्रा नहीं है, जिसमें लंबे भाषण दिए जाते हैं, बल्कि यह एक ‘‘सुनने वाली यात्रा’’ है जहां लोगों की आवाज सुनी जाती है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में दावा किया कि कांग्रेस एकमात्र पार्टी है जो अपने अध्यक्ष का चुनाव करने के लिए चुनाव कराती है। 

इसे भी पढ़ें: 'महागठबंधन में मतभेद', सुशील मोदी का दावा- नीतीश कुमार की हर शर्त मानने को बाध्य लालू यादव

उन्होंने सवाल किया, ‘‘क्या टीआरएस में चुनाव होंगे? क्या भाजपा में चुनाव होंगे?’’ रमेश ने कहा कि चल रही ‘भारत जोड़ो यात्रा’ को दशहरा के कारण दो दिनों (4 और 5 अक्टूबर) के लिए रोक दिया जाएगा और यह छह अक्टूबर से कर्नाटक के मांड्या से फिर से शुरू होगी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के भी इसमें भाग लेने की उम्मीद है। यात्रा 24 अक्टूबर को तेलंगाना में प्रवेश करेगी और राज्य में 360 किलोमीटर की दूरी तय करेगी। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह भी संवाददाता सम्मेलन में मौजूद थे। उन्होंने केंद्र में कांग्रेस या भाजपा के अलावा किसी अन्य पार्टी या मोर्चे के सरकार बनाने की संभावना से इनकार किया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़